पंजाब के पूर्व सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह बोले – हमारा उद्देश्य सरकार बनाना है कांग्रेस को हराना नहीं

375
FILE PHOTO

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मंगलवार को कहा कि उनकी पार्टी पंजाब लोक कांग्रेस का मिशन राज्य में अगली सरकार बनाना है और महज सत्तारूढ़ कांग्रेस को हराना नहीं है. सिंह ने यहां पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि वह पूरे राज्य से मिल रही प्रतिक्रिया से अभिभूत हैं. उन्होंने दावा किया कि बहुत जल्द सभी तीन बड़े दलों -कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और शिरोमणि अकाली दल-के कई मौजूदा एवं पूर्व विधायक उनकी पार्टी में शामिल होंगे.

पंजाब विधानसभा चुनाव अगले साल की शुरूआत में होना है. अपनी पार्टी का एजेंडा साझा करते हुए सिंह ने कहा कि वह यहां एक बार फिर महज मुख्यमंत्री बनने के लिए नहीं हैं. उन्होंने कहा, ‘‘मेरा मिशन न सिर्फ पंजाब को बचाना है, बल्कि इसके अतीत के गौरव को भी बहाल करना है.’’ सिंह ने कहा कि पाकिस्तान के लोगों के खिलाफ उनकी व्यक्तिगत रंजिश नहीं है लेकिन उन्हें पाकिस्तान सरकार और इसके सैन्य प्रतिष्ठान से समस्याएं हैं ‘‘जो आतंकवाद को प्रायोजित कर रहा है और सीमाओं पर हमारे सैनिकों की जान ले रहा है. पिछले पांच साल में पंजाब के 83 सैनिक मारे गये. कल्पना कीजिए कि पूरे देश से यह संख्या कितनी होगी.’’

उन्होंने कहा कि इन परिस्थितियों में कोई सच्चा भारतीय दावा नहीं कर सकता कि इमरान खान और पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा मित्र हैं. उन्होंने पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘यदि आपके मित्र ऐसे लोग हैं जिनके बारे में आप गर्व से दावा करते हैं तो आप देश के शुभचिंतक नहीं हैं. ’’

पंजाब में अमरिंदर सिंह की पार्टी से बातचीत जारी: शेखावत
इधर, केंद्रीय मंत्री और पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रभारी गजेंद्र सिंह शेखावत ने मंगलवार को कहा कि उनके दल और अमरिंदर सिंह के नेतृत्व वाली पंजाब लोक कांग्रेस पार्टी द्वारा राज्य में आगामी चुनाव के लिए हाथ मिलाए जाने की संभावना है. शेखावत ने कहा कि इस मामले में दोनों दलों के बीच बातचीत जारी है. दोनों दलों की सोच समान है और कई मुद्दों पर उनके विचार एक जैसे हैं. राज्य स्तर के कार्यकर्ताओं की एक बैठक को संबोधित करने के लिए यहां आए शेखावत ने आरोप लगाया कि पंजाब सभी क्षेत्रों में पिछड़ रहा है और विकास के मामले में देश में शीर्ष स्थान से 16वें स्थान पर खिसक गया है.