राजस्थान में सियासी संकट के बीच , विधानसभा सत्र में सचिन पायलट के विधायकों के हिस्सा लेने पर सस्पेंस

74
Sachin Pilot

राजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच पायलट गुट ने साफ किया है कि उनकी कांग्रेस आलाकमान से कोई बात नहीं हुई है. कांग्रेश आलाकमान की तरफ से किसी ने अब तक पायलट गुट के विधायकों से संपर्क नहीं किया है. वहीं, पायलट गुट के ये विधायक 14 अगस्त से शुरू हो रहे विधानसभा सत्र में हिस्सा लेंगे या नहीं, ये भी अभी तय नहीं है.

विधायक वेद सोलंकी ने कहा कि इस बात की चर्चा है कि 14 अगस्त को विधानसभा में हम लोग आएंगे, यह बात सही नहीं है. हमारे नेता सचिन पायलट ने अभी यह तय नहीं किया है कि हम लोग 14 अगस्त को विधानसभा में जाएंगे या नहीं.

वेद सोलंकी ने कहा कि हम लोग सचिन पायलट के साथ हैं. वह जो भी कहेंगे, उसी के अनुसार हम फैसला लेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि हमारे ऊपर आरोप लगाया जा रहा है कि हम बीजेपी की मेहमाननवाजी में है. यह बात झूठ है, क्योंकि जब हम लोग जयपुर से निकले थे तब हम यह तय करके निकले थे कि हम लोग अपना खर्चा खुद उठाएंगे. अब तक होटल का बिल हम लोगों ने खुद दिया है और आगे भी खुद ही देंगे. वकील की फीस भी हम लोग खुद देंगे.

उधर, सत्र शुरू होने से पहले बीजेपी ने भी अपने विधायकों को टूटने से बचाने के लिए रिसॉर्ट पॉलिटिक्स का सहारा लिया हैं. राजस्थान के 6 बीजेपी विधायक चार्टर्ड प्लेन से गुजरात के पोरबंदर पहुंचे हैं. पोरबंदर से बीजेपी विधायक सड़क के रास्ते से सोमनाथ के लिए रवाना होंगे. दरअसल, बीजेपी को डर है कि कांग्रेस उनके विधायकों को तोड़ सकती है. ऐसे में अब बीजेपी अपने विधायकों को टूटने से बचाने की कोशिश कर ही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here