प्रधानमंत्री मोदी का ईद-ए-मिलाद पर देशवासियों को बधाई कहा – ‘चारों ओर शांति और समृद्धि हो, भाईचारा हमेशा कायम रहे

    258

    भारत सहित पूरे विश्व में आज ईद ईद-ए-मिलाद-उन-नबी (Eid e Milad Un Nabi 2021) का त्योहार मनाया जा रहा है. मुस्लिम समुदाय के लोग पैगंबर हजरत मोहम्मद के जन्मदिन को ईद-ए-मिलाद-उन-नबी या ईद-ए-मिलाद के रूप में सेलिब्रेट करते हैं. आज के इस मुबारक दिन पर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर देशवासियों को बधाई दी है.

    बता दें कि देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने ट्वीट करते हुए लिखा कि पैगम्बर मुहम्मद के जन्मदिन, ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के पावन अवसर पर, मैं सभी देशवासियों, विशेष रूप से हमारे मुस्लिम भाइयों-बहनों को मुबारकबाद देता हूं. आइए, हम सब पैगम्‍बर मुहम्‍मद के जीवन से प्रेरणा लेकर, समाज की खुशहाली के लिए और देश में सुख शांति बनाए रखने हेतु कार्य करें. गौर हो कि ईद-ए-मिलाद-उन-नबी के दिन रात भर प्राथनाएं करते हैं. साथ ही जगह-जगह जुलुस निकाला जाता है. घरों और मस्जिदों को सजाया जाता है. इस दिन मोहम्मद साहब के संदेशों और कुरान को पढ़ा जाता है.

    राहुल गांधी का ट्वीट
    कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर बधाई दी. राहुल गांधी ने कहा, कहा, मिलाद-उन-नबी के अवसर पर मेरी शुभकामनाएं, हम करुणा, शांति और भाईचारे की भावना से निर्देशित हों.

    AAP नेता अरविंद केजरीवाल ने इस तरह दी बधाई

    इस्लामिक कैलेंडर के मुताबिक, ये त्योहार तीसरे महीने रबी-उल-अव्वल के 12वें दिन मनाया जाता है. इस्लामिक कैलेंडर के अनुसार इस्लाम के तीसरे महीने यानि मिलाद उन-नबी की शुरुआत हो चुकी है. मोहम्मद साहब के जन्मदिन (Prophet Muhammad birth anniversary) पर लोग उनकी याद में जुलूस निकालते हैं. इस दिन जगह-जगह बड़े आयोजन भी किए जाते हैं.

    पैगंबर साहब के जन्म से पहले ही उनके पिता का निधन हो चुका था. जब वह 6 वर्ष के थे तो उनकी मां की भी मृत्यु हो गई. मां के निधन के बाद पैगंबर मोहम्मद अपने चाचा अबू तालिब और दादा अबू मुतालिब के साथ रहने लगे. इनके पिता का नाम अब्दुल्लाह और माता का नाम बीबी आमिना था. अल्लाह ने सबसे पहले पैगंबर हजरत मोहम्मद को ही पवित्र कुरान अता की थी. इसके बाद ही पैगंबर साहब ने पवित्र कुरान का संदेश दुनिया के कोने-कोने तक पहुंचाया.