अपने खिलाफ FIR दर्ज करने के आदेश पर बोले तेजस्वी यादव- अगर कोई टॉम, डिक या हैरी मेरे खिलाफ मामला दर्ज करता है तो मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता

179

आरजेडी नेता तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) एक बार फिर से विवादों में हैं. चुनावी टिकट को लेकर कथित तौर पर उन पर पैसे लेने के आरोप लगे हैं. पटना हाईकोर्ट (Patna court) ने तेजस्‍वी यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया है. कोर्ट के प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश के बाद तेजस्‍वी यादव ने अपने विरोधियों पर निशाना साधा. तेजस्‍वी यादव ने कहा कि, अगर कोई टॉम, डिक या हैरी मेरे खिलाफ मामला दर्ज करता है तो मुझे इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन सवाल यह है कि शिकायतकर्ता को 5 करोड़ रुपये कहां से मिले?.

तेजस्वी यादव ने कल पटना में कहा, “मैं मामले की निष्पक्ष जांच और शिकायतकर्ता की ओर से लगाए गए निराधार आरोपों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग करता हूं” आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने पटना की अदालत द्वारा चुनावी टिकट के बदले कथित रूप से पैसे लेने के आरोप में उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश दिया.

बिहार के नेता प्रतिपक्ष और तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) और उनकी बहन मीसा भारती (Misa Bharti) समेत 6 लोगों के खिलाफ कोर्ट ने पैसे लेकर टिकट न देने के एक मामले में FIR दर्ज करने का आदेश दिया है. इन दोनों के अलावा इस मामले में बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता राजेश राठौर और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे सदानंद सिंह के बेटे शुभानंद मुकेश का नाम भी शामिल है. पटना के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विजय किशोर सिंह की अदालत ने राजधानी के कोतवाली थाने को छह नेताओं के खिलाफ FIR दर्ज कर कार्रवाई को आगे बढ़ाने के आदेश दिए हैं.

कांग्रेस नेता और वकील संजीव कुमार सिंह ने पटना के सीजेएम की अदालत में 18 अगस्त को इन सभी लोगों के खिलाफ एक केस दर्ज कराया है. इन सभी पर रुपए लेकर लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं देने का आरोप है. इस केस में संजीव कुमार सिंह ने खुद को बिहार कांग्रेस का प्रभारी का पर्यवेक्षक बताते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, राज्यसभा सदस्य मीसा भारती के अलावा बिहार कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा, सदानंद सिंह, राजेश राठौर पर 5 करोड़ की रिश्वत लेने के बावजूद टिकट न देने का आरोप लगाया है. शिकायत के मुताबिक इस पैसे का लेन-देन 15 जनवरी 2019 को हुआ था लेकिन उन्हें टिकट नहीं दिया गया.