AIADMK पर ओवैसी का हमला, बोले- ‘अब मोदी की गुलाम बन गई जयललिता की पार्टी’

549
Asaduddin Owaisi
Asaduddin Owaisi

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने शुक्रवार को तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) पर जमकर हमला बोला। ओवैसी ने कहा कि एआईएडीएमके अब मैडम जयललिता की पार्टी नहीं रही है, अब यह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गुलाम बन गई है।

चेन्नई में रैली को संबोधित करते हुए एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने एआईएडीएमके पर हमला बोला। इस दौरान उन्होंने कहा कि ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम अब मैडम जयललिता की पार्टी नहीं रही हैं। उन्होंने अपनी पार्टी को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से  हमेशा दूर रखा। दुर्भाग्य से एआईएडीएमके अब प्रधानमंत्री मोदी की गुलाम बन गई है। ओवैसी ने तमिलनाडु विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाने के लिए टीटीवी दिनाकरण की पार्टी अम्मा मक्कल मुनेत्र कड़गम (एएमएमके) के साथ एआईएमआईएम के गठबंधन का बचाव किया। 

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई में लोगों को संबोधित करते हुए आवैसी ने द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) के कांग्रेस के साथ गठबंधन पर सवाल उठाया। आवैसी ने पूछा कि डीएम के धर्मनिरपेक्षता की परिभाषा बताए। ओवैसी ने कहा कि महाराष्ट्र में कांग्रेस ने शिवसेना के साथ गठबंधन किया है। शिवसेना के नेता और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने विधानसभा में कहा कि उन्हें गर्व है कि शिवसेना ने अयोध्या में बाबारी मस्जिद के लिए त्याग किया।

ओवैसी बोले, “मैं पूछना चाहता हूं कि क्या आज डीएमके भी शिवसेना से सहमत है? मुझ पर और दिनाकरन साहब पर आरोप लगाया जाता है कि मैं भाजपा की बी टीम हूं, लेकिन शिवसेना को सत्ता में मदद करने वाली कांग्रेस खुद डीएमके के साथ बैठी है।”  ओवैसी ने पूछा कि क्या डीएमके मुझे धर्मनिरपेक्षता की अपनी परिभाषा बता सकती है? कांग्रेस महाराष्ट्र में शिवसेना का समर्थन कर रही है। डीएमके के मुताबिक क्या शिवसेना धर्मनिरपेक्ष है?