ब्रिटेन समेत आठ देशों तक पहुंचा ओमिक्रॉन, बांग्लादेश ने भी अफ्रीकी उड़ानों पर लगाई रोक

386
Corona Third wave

ओमिक्रॉन (B.1.1.529) वैरिएंट पिछले 4 दिनों में 9 देशों तक पहुंच गया है। इनमें दक्षिण अफ्रीका, इजराइल, हॉन्गकॉन्ग, बोत्सवाना, बेल्जियम, जर्मनी, चेक रिपब्लिक, ब्रिटेन और इटली शामिल हैं।

दक्षिण अफ्रीका ने 24 नवंबर को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने (WHO) को पहले केस की जानकारी दी थी। WHO ने नए वैरिएंट को लेकर दक्षिण एशियाई देशों को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं।

इससे पहले शनिवार को वायरस का यह नया और सबसे खतरनाक वैरिएंट जर्मनी, ब्रिटेन और इटली तक पहुंच गया। जर्मनी के सामाजिक मामलों के मंत्री काई क्लोस ने सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी दी है। क्लोस ने बताया कि कई दिनों पहले ही जर्मनी में इस नए वैरिएंट की एंट्री हो चुकी है।

उन्होंने बताया कि दक्षिण अफ्रीका से लौटने वाले दो यात्रियों के टेस्ट रिपोर्ट में ओमिक्रॉन के म्यूटेंट पाए गए हैं। इस यात्री को क्वारैंटाइन कर दिया गया है। उधर, ब्रिटेन के हेल्थ सेक्रेटरी ने ओमिक्रॉन के दो मामलों की पुष्टि की। वहीं इटली की हेल्थ मिनिस्ट्री ने मोजाम्बिक से लौटने वाले एक यात्री में नए मामले की पहचान की है।

कहां कितने केस सामने आए..

दक्षिण अफ्रीका में 21 नवंबर को इसका पहला मामला सामने आया। इसके बाद अब तक इस वैरिएंट से 77 लोग इंफेक्ट हो गए हैं।
बोत्सवाना में भी 4 लोग इस वैरिएंट से इंफेक्टेड मिले हैं। चिंता वाली बात ये है कि बोत्सवाना में पूरी तरह वैक्सीनेटेड लोग भी इसकी चपेट में आ गए हैं।

इसके बाद हॉन्ग कॉन्ग में भी इस नए वैरिएंट के 2 केस मिले हैं। फिलहाल दोनों मरीजों को आइसोलेशन में रखा गया है और निगरानी की जा रही है।

इजराइल में भी इस वैरिएंट से इन्फेक्टेड एक केस की पुष्टि हुई है। इंफेक्टेड व्यक्ति दक्षिण अफ्रीका के मलावी से लौटा है।
बेल्जियम में एक और जर्मनी में इसके दो केस सामने आ चुके हैं। यहां ट्रेसिंग बढ़ा दी गई है और विदेश से आने वालों पर सख्ती बरती जा रही है।

इसके साथ ही चेक रिपब्लिक में भी एक केस सामने आने की जानकारी है। ब्रिटेन के हेल्थ सेक्रेटरी ने शनिवार को दो केस की पुष्टि की है।
इटली की हेल्थ मिनिस्ट्री ने मोजाम्बिक से लौटने वाले एक यात्री में नए वैरिएंट की पहचान की है। उसे क्वारैंटाइन किया गया है।