नरेंद्र गिरी केस: हरिद्वार तक पहुंचेगी जांच की आंच, SIT के रडार पर कई संत और प्रॉपर्टी डीलर्स

    216

    अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी की मौत के मामले के तार अब हरिद्वार के कई प्रॉपर्टी डीलर्स और संतो से जुड़ते नजर आ रहे हैं. यूपी पुलिस को ऐसे कई सबूत मिले हैं जिनसे किसी प्रॉपर्टी डील से संबंधित विवाद के बारे में जानकारी मिलती है. जानकारी के मुताबिक ये प्रॉपर्टी डीलर्स लगातार नरेंद्र गिरी के संप्रक में थे. ऐसे में यूपी पुलिस अब इन प्रॉपर्टी डीलर्स से पूछताछ करने की तैयारी में है. यूपी पुलिस ने इस बाबत हरिद्वार पुलिस से सहायता मांगी है. जानकारी के मुताबिक पूरा विवाद हरिद्वार स्थित किसी आश्रम की जमीन को बेचने से संबंधित है.
    हालांकि पुलिस फिलहाल बरामद सुसाइड नोट के आधार पर दो लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. वहीं नरेंद्र गिरी के कॉल डिटेल्स के आधार पर यूपी पुलिस अब कई संतों और हरिद्वार के प्रॉपर्टी डीलर्स से पूछताछ करने वाली है. पुलिस फिलहाल उन लोगों से पूछताछ करेगी जो लगातार नरेंद्र गिरि से फोन पर बातचीत कर रहे थे. इसमें कई संतों के अलावा 2 प्रॉपर्टी डीलर्स के बारे में जानकारी मिली है जिनसे नरेंद्र गिरि की लगातार बात हो रही थी.

    योगी आदित्यनाथ सराकर ने महंत के मौत मामले की जांच CBI से कराने की सिफारिश की है. बता दें कि महंत नरेंद्र गिरी का शव सोमवार के दिन प्रयागराज स्थित बाघंबरी मठ में पंखे से लटका मिला. उनके पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद किया गया जिसमें उनके शिष्य आनंद गिरि समेत 3 लोगों पर परेशान करने का आरोप लगाया था. तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बता दें कि इस मामले की जांच फिलहाल 18 सदस्यीय SIT कर रही है.