Happy Birthday Neha Kakkar: साधारण लड़की से आज बॉलीवुड की ‘हिट मशीन’ बनीं नेहा कक्कड़, कभी पिता बेचते थे समोसा, जागरण में गाती थीं गाना

715

गायिका नेहा कक्कड़ छह जून को अपना जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। उनका जन्म उत्तराखंड के ऋषिकेश में हुआ था। नेहा की बहन सोनू कक्कड़ भी एक गायिका हैं और उनके भाई टोनी कक्कड़ गायक-संगीतकार हैं। आज नेहा कक्कड़ बॉलीवुड का बड़ा नाम हैं लेकिन एक वक्त ऐसा भी था जब उनके परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी।

एक कमरे में रहता था परिवार
नेहा कक्कड़ के पिता शुरुआत में ऋषिकेश में एक कॉलेज के बाहर समोसा बेचते थे जबकि उनकी मां एक होममेकर थीं। नेहा का पूरा परिवार किराए के एक कमरे में रहता था। 90 के दशक के शुरुआत में उनका परिवार दिल्ली शिफ्ट हो गया और यहां नेहा जागरण में गाना गाने लगीं।

4 साल की उम्र से गाना गा रहीं नेहा कक्कड़
परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए नेहा कक्कड़ ने चार साल की उम्र से ही गाना शुरू कर दिया था। उस वक्त वो स्टेज पर भजन गाती थीं। आस-पास की जगहों पर जहां भी भक्ति कार्यक्रम होते थे वहां नेहा को उनके परिवार वाले ले जाते थे। इस तरह वो थोड़े बहुत पैसे कमा लेती थीं जिससे घर का गुजारा हो जाता था।
16 साल की उम्र तक वो केवल भजन ही गाती रहीं। वो एक दिन में 5-5 जागरण में जाती थीं। उन्होंने संगीत के क्षेत्र में कोई ट्रेनिंग नहीं ली है बल्कि यही उनकी ट्रेनिंग थी।

भाई के साथ पहुंची थीं मुंबई
2004 में वो अपने भाई टोनी कक्कड़ के साथ मुंबई पहुंचीं। नेहा ने 2006 में ‘इंडियन आइडल’ में हिस्सा लिया। उस वक्त उनकी उम्र 18 साल थी। हालांकि शो से वो जल्द ही बाहर हो गई थीं। शो के पांच साल बाद तक नेहा को इंडस्ट्री में कोई काम नहीं मिला। उस वक्त वो कई संगीतकारों और निर्माताओं से मिलीं लेकिन कहीं बात नहीं बनती थी। उन्हें लोगों ने ‘जय माता दी गर्ल’ कहना शुरू कर दिया।

ऐसे मिली पहचान
2008 में उन्होंने अपना एलबम ‘नेहा द रॉकस्टार’ लॉन्च किया। इस एलबम से उन्हें थोड़ी बहुत पहचान मिलनी शुरू हुई। 2014 में नेहा कक्कड़ के कई गाने हिट रहे। इनमें फिल्म ‘यारियां’ और ‘द शौकीन’ के गाने थे।
नेहा कक्कड़ ने कई रीमिक्स वर्जन के लिए अपनी आवाज दी है। उनके ये गाने हिट भी रहे हैं लेकिन इसकी वजह से उनकी आलोचना भी होती रही है।