इजराइल में नेतन्याहू के खिलाफ राष्ट्रव्यापी प्रदर्शन, उठ रही इस्तीफे की मांग

338

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों को लेकर हजारों लोगों ने साप्ताहिक प्रदर्शनों में हिस्सा लिया। इस दौरान लोगों ने भ्रष्टाचार के आरोपों पर उनके इस्तीफे की मांग की। नेतन्याहू पर अरबपति सहयोगियों और मीडिया से जुड़े तीन मामलों में रिश्वत लेने, धोखाधड़ी और विश्वासघात करने के आरोप तय किए गए हैं। हालांकि उन्होंने कुछ भी गलत करने से इन्कार किया है। यही नहीं प्रदर्शनकारियों ने नेतन्याहू पर कोरोना महामारी से निपटने में लापरवाही का भी आरोप लगाया।

यरुशलम में प्रधानमंत्री के आवास के पास पिछली गर्मियों से हर हफ्ते विरोध प्रदर्शन हो रहा है। हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी जमा होकर नेतन्याहू विरोधी नारे लगाते हैं। इस साल मार्च में इजरायल में फिर चुनाव होने वाले हैं। देश में दो सालों के भीतर यह चौथा चुनाव होगा। शनिवार तक 9 मिलियन (90 लाख) आबादी वाले इजरायल में 2.5 मिलियन (25 लाख) से अधिक लोगों को कोरोना वायरस का पहला टीका लगा दिया गया है।

यह विरोध प्रदर्शन देश में तीसरे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के बीच किया गया। देश में महामारी बढ़ने पर हाल ही में तीसरी बार लॉकडाउन लगाया गया और स्कूलों को बंद कर दिया गया। महामारी से निपटने के लिए टीकाकरण अभियान चल रहा है। इधर, भ्रष्टाचार के आरोपों में नेतन्याहू के खिलाफ इसी हफ्ते ट्रायल शुरू होने वाला था, लेकिन महामारी के चलते इसे अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया गया है।