कृषि मंत्री तोमर का विपक्ष पर हमला, बोले- विपक्षी दल कृषि अर्थव्यवस्था की कीमत पर राजनीति कर रहा है

522

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने शनिवार को फिर कहा, सरकार किसानों की भावनाओं को समझते हुए तीनों कृषि कानूनों में संशोधन के लिए तैयार है। हालांकि, उन्होंने विपक्ष को आडे़ हाथ लेते हुए यह भी कहा, विपक्षी दल कृषि अर्थव्यवस्था की कीमत पर राजनीति कर रहा है और किसानों के हितों पर चोट पहुंचा रहा है। उन्होंने कहा, विपक्ष हमेशा बडे़ सुधारों के खिलाफ रहा है, मगर नीति और इरादे सही हों तो जनता बदलावों को स्वीकार करती है।

तोमर ने पांचवें राष्ट्रीय कृषि दृष्टिकोण सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा, सरकार ने किसान यूनियनों के साथ 11 दौर तक बातचीत की और कानूनों के संशोधन का प्रस्ताव भी दिया। उन्होंने कहा, सरकार ने कृषि क्षेत्र में निवेश बढ़ाने के लिए ये तीन कानून बनाए। इससे किसानों की अपनी उपज को मनचाही कीमत पर बेचने की आजादी दी गई है। किसान आंदोलन पर तोमर ने कहा, मैं ये मानता हूं कि लोकतंत्र में असहमति का अपना स्थान है।

विरोध का भी अपना स्थान है और मतभेद का भी अपना महत्व है। हालांकि, क्या विरोध इस कीमत पर किया जाना चाहिए, जो देश का नुकसान करे। कोई भी इस बारे में बात नहीं कर रहा है कि आखिर इन प्रदर्शनों से किसानों का कैसे हित होगा। उन्होंने कहा, सरकार का संशोधन का प्रस्ताव का कतई ये मतलब नहीं है कि इनमें कोई खामी है।

तोमर ने किसान यूनियनाें और विपक्षी दलों पर निशाना साधते हुए कहा कि ये लोग तीनों कानूनों के किसी प्रावधान की खामियां गिनाने में विफल रहे हैं। उन्होंने कहा, लोकतंत्र है तो राजनीति करने की स्वतंत्रता सबको है। मगर, क्या किसान को मारकर राजनीति की जाएगी। किसान का अहित करके राजनीति की जाएगी। देश की कृषि अर्थव्यवस्था को तिलांजलि देकर अपने मंसूबों को पूरा किया जाएगा। इस पर निश्चित रूप से नई पीढ़ी को विचार करने की जरूरत है।