मल्टीबैगर स्टॉक के लिस्ट में रूट मोबाइल का नाम सबसे ऊपर, मार्केट कैप 11.57 लाख करोड़ रुपए पहुंचा

268

आईपीओ मार्केट में रिकॉर्ड तेजी है. लेकिन लिस्ट होने के बाद ज्यादातर शेयर का परफॉर्मेंस अच्छा नहीं दिख रहा है. इस बीच कुछ लिस्ट होने वाले शेयरों ने शानदार प्रदर्शन किया है. इस लिस्ट में रूट मोबाइल का नाम सबसे ऊपर है. आईपीओ लिस्टिंग में दोगुना रिटर्न देने वाले इस स्टॉक ने लिस्टिंग के बाद भी जोरदार प्रदर्शन जारी रखा है.

रूट मोबाइल  की लिस्टिंग पिछले साल सितंबर में हुई थी. तब से लेकर अब तक रूट मोबाइल के शेयरों ने अपने निवेशकों के पैसे को लगभग तीन गुना कर दिया है. इसने एक साल में ही 182% का रिटर्न दिया है.

इस मिडकैप शेयर की लिस्टिंग 21 सितंबर 2020 को हुई 717 रुपए पर हुई थी. जबकि शुक्रवार 3 सितंबर को रूट मोबाइल के शेयर 1999.95 रुपए पर बंद हुए हैं. इसके मुकाबले इस दौरान सेंसेक्स ने सिर्फ 48% का रिटर्न दिया है. अगर आपने रूट मोबाइल में लिस्टिंग के दिन 1 लाख रुपए का निवेश किया होता तो आज आपके निवेश की वैल्यू 2.82 लाख रुपए होती.

रूट मोबाइल के शेयर अपने 5 दिन, 20 दिन, 50 दिन, 100 दिन और 200 दिन के मूविंग एवरेज के ऊपर ट्रेड कर रहा है. इस साल अब तक रूट मोबाइल के शेयर 83% चढ़ चुके हैं. 5 जुलाई 2021 को रूट मोबाइल ने अपना 52 हफ्तों का हाई लेवल 2308 पर था. जबकि इसका 52 हफ्तों का निचला लेवल 625 रुपए 21 सितंबर 2021 का ही है जिस दिन इसकी लिस्टिंग हुई थी.

रूट मोबाइल का मार्केट कैप 11.57 लाख करोड़ रुपए है. जून तिमाही तक कंपनी में 66 फॉरेन पोर्टफोलियो इनवेस्टर्स के पास कंपनी की 15.61 फीसदी हिस्सेदारी थी.

रूट मोबाइल क्लाउड कम्युनिकेशंस प्रोवाइड कराती है. पिछले एक साल में कंपनी का रिटर्न प्रतिद्वंदी कंपनियों के मुकाबले काफी अच्छा रहा है. इस दौरान टीसीएस ने 66.45% और इंफोसिस ने 81.58% का रिटर्न दिया है. दूसरी प्रतिद्वंदी कंपनियों को देखें तो विप्रो ने 131.13% और एचसीएल टेक ने 65.07% का रिटर्न दिया है.

साल-दर-साल आधार पर रूट मोबाइल की सेल्स मार्च 2021 में 47% बढ़कर 1406.17 करोड़ रुपए रही. पिछले फिस्कल ईयर की मार्च तिमाही में कंपनी की सेल्स 956.25 करोड़ रुपए थी. रूट मोबाइल का इश्यू प्राइस 350 रुपए था और इसकी लिस्टिंग इश्यू प्राइस से 102.28% ऊपर 708 रुपए पर हुई थी.

कुछ विशेषज्ञों का मानना है इस कंपनी का अपने सेंगमेंट में एक बड़े मार्केट पर कब्जा है.साथ ही इसका प्रदर्शन भी अच्छा चल रहा है. लिहाजा लॉन्ग टर्म के लिहाज इसमें निवेश किया जा सकता है.