IPL 2021: मुंबई इंडियंस को हराने के बाद कप्तान एमएस धोनी ने की गायकवाड़ और ब्रावो की सराहना बोले- उम्मीद से बेहतर स्कोर तक पहुंचाया

153

सलामी बल्लेबाज ऋतुराज गायकवाड़ (Ruturaj Gaikwad) के नाबाद अर्धशतक और ड्वेन ब्रावो की तूफानी पारी से चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) ने IPL 2021 के 30वें मुकाबले में पांच बार के चैंपियन मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) को 20 रन से हराया. दुबई में खेले गए मुकाबले में चेन्नई के 157 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई की टीम ड्वेन ब्रावो (25 रन पर तीन विकेट) और दीपक चाहर (19 रन पर दो विकेट) की धारदार गेंदबाजी के सामने आठ विकेट पर 136 रन ही बना सकी. मुंबई की ओर से सौरभ तिवारी (40 गेंद में नाबाद 50, पांच चौके) ही 20 रन के आंकड़े को पार करने में सफल रहे. चेन्नई सुपरकिंग्स ने रुतुराज गायकवाड़ (नाबाद 88) के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के अलावा रवींद्र जडेजा (26) के साथ पांचवें विकेट के लिए 81 और ड्वेन ब्रावो (आठ गेंद में 23, तीन छक्के) के साथ छठे विकेट के लिए 39 रन की साझेदारी से छह विकेट पर 156 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था.

इस जीत से चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) काफी खुश दिखे. उन्होंने गायकवाड़ और ब्रावो की सराहना की. मैच के बाद महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि इन दोनों बल्लेबाजों ने उन्हें उम्मीद से बेहतर स्कोर तक पहुंचाया. धोनी ने कहा, ‘30 रन पर चार विकेट गंवाने के बाद हम सम्मानजनक स्कोर खड़ा करना चाहते थे. मुझे लगता है कि ऋतुराज और ब्रावो ने हमें उम्मीद से बेहतर स्कोर तक पहुंचाया. हमने 140 रन के बारे में सोचा था लेकिन 160 के करीब पहुंचना शानदार था. विकेट पर असमान गति से गेंद आ रही थी, शुरुआत में गेंद थोड़ी धीमी आ रही थी. निचले क्रम में बल्लेबाजी करना मुश्किल था, आप गेंद पर कड़ा प्रहार करने का प्रयास करते हो. रायुडू चोटिल हो गया, इसलिए वहां से वापसी करना मुश्किल था लेकिन हमने समझदारी से बल्लेबाजी की और शानदार अंत किया. एक बल्लेबाज का अंत तक खेलना समझदारी भरा था.’

गायकवाड़ ने क्या कहा
वहीं प्लेयर ऑफ दी मैच रहे ऋतुराज गायकवाड़ ने कहा कि यह उनकी टॉप की पारियों में से एक है. उन्होंने कहा कि टीम शुरू में दबाव में थी ऐसे में क्रीज पर डटे रहना जरूरी था. उन्होंने अपने लगातार अच्छे प्रदर्शन के लिए कप्तान धोनी और टीम मैनेजमेंट को क्रेडिट दिया. उन्होंने कहा, माही भाई, सीएसके मैनेजमेंट में सब जब एक बार आपका सपोर्ट कर देते हैं तो फिर वे आपको कुछ और नहीं सोचने देते. फिर बस ध्यान अच्छी बातों पर ही रहता है. श्रीलंका दौरा और यहां आने से पहले की तैयारियों से मदद मिली.