लखनऊ के प्राचीन हनुमान मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देना वाला आरोपी शफीक गिरफ्तार, सीसीटीवी फुटेज से मिली मदद

188

अलीगंज के बड़े हनुमान मंदिर और मनकामेश्वर मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी देने वाला आरोपी गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी शफीक मूल रूप से दिल्ली के सीलमपुर का रहने वाला है। पुलिस को उसके पास से कई संदिग्ध किताबें और दस्तावेज मिले हैं।

एसीपी अलीगंज अखिलेश सिंह के मुताबिक 29 जुलाई को अलीगंज स्थित नए बड़े हनुमान मंदिर के पते पर रजिस्टर्ड डाक द्वारा एक चिट्ठी आई जिसमें शहर के कई बड़े मंदिरों और आरएसएस कार्यालय को उड़ाने की धमकी दी गई थी।

मंदिर प्रबंधन ने संयुक्त पुलिस आयुक्त अपराध नीलाब्जा चौधरी से इसकी शिकायत की। जेसीपी ने तत्काल इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच और अलीगंज पुलिस को सौंपी। बुधवार देर रात को अलीगंज पुलिस ने आरोपी को पुरनिया पुल के पास से गिरफ्तार किया। आरोपी शफीक मूल रूप से दिल्ली का रहने वाला है । वह अलीगंज इलाके में किराए के मकान में रहता है।

सीसीटीवी फुटेज से आरोपी तक पहुंची पुलिस, प्रभारी निरीक्षक अलीगंज पन्ने लाल यादव के मुताबिक चिट्ठी त्रिवेणी नगर उप डाकघर से भेजी गई थी। जिस पर पुलिस टीम ने आसपास के सीसीटीवी फुटेज को खंगालना शुरू किया। जिसके बाद संदिग्ध गतिविधि के आधार पर पुलिस ने फुटेज के आधार पर आरोपी की तलाश शुरू की। बुधवार रात शफीक दबोच लिया गया।

शफीक ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन उसके घर में खाना बनाने वाले युवक ने सीसीटीवी फुटेज देखने के बाद उल्टे शफीक को फटकार लगानी शुरू कर दी। पुष्टि होने के बाद पुलिस ने घर की तलाशी ली। जहां से कई संदिग्ध दस्तावेज और किताबें मिले हैं। पुलिस शफीक के नेटवर्क को खंगाल रही है।

प्रभारी निरीक्षक पन्ने लाल के मुताबिक, शफीक अलीगंज से पहले खादरा इलाके के मक्का में रहता था। आज भी वहां उसकी पत्नी और दो बच्चे रहते हैं। पुलिस के मुताबिक शफीक और उसकी पत्नी के बीच तलाक का मुकदमा चल रहा है। तलाक होने के बाद शफीक खदरा से अलीगंज में आकर फ्लैट लेकर किराए पर रहने लगा।