लखनऊ : खिड़की से चिल्लाती रही मां, बेटे ने लगा ली फांसी..

140
suicide
suicide

राजधानी लखनऊ के सआदतगंज से एक बेहद ही हृदय विदारक घटना सामने आई है। जहाँ एक 15 साल के लड़के ने अपनी माँ की आखों के सामने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी। माँ खिड़की से चीखती-चिल्लाती रहीं, उसने बेटे को रोकने की बहुत कोशिश की, लेकिन बेटे ने एक न सुनी। मां की सिर्फ इतनी सी गलती थी कि दो भाइयों में टीवी पर कार्टून देखने के लिए झगड़ा हुआ तो मां ने बड़े बेटे को एक थप्पड़ मार दिया।

मां की आंख के सामने ही फांसी लगा ली

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, रुमिका तिवारी के पति राजेश तिवारी की मौत हो चुकी है। वह दो बेटों आयुष्मान व अंशुमान के साथ कटरा विजन बेग में रह रही थीं। रविवार रात को रुमिका किचन में थी और दोनों बेटे कमरे में टीवी देख रहे थे। छोटा बेटा अंशुमान टीवी पर छोटा भीम देख रहा था तो आयुष्मान चैनल बदलने लगा। इसी बात पर दोनों में झगड़ा हो गया और आयुष्मान ने अंशुमान को दो-तीन थप्पड़ जड़ दिए। झगड़े की आवाज सुनकर रुमिका कमरे में पहुंची और आयुष्मान को एक थप्पड़ मार दिया। इससे वह नाराज हो गया, और फोन लेकर दूसरे कमरे को बंद करके बैठ गया। कुछ देर बाद जब रुमिका ने खिड़की से झांककर देखा तो अंदर आयुष्मान फंदा बना कर फांसी लगाने जा रहा था। वह खिड़की से चिल्लाते हुए उसे रोकने लगीं, लेकिन वह नहीं माना। उसने मां की आंख के सामने ही फांसी लगा ली।

गैस सिलिंडर से दरवाजा तोड़कर निकाला :-

प्रभारी निरीक्षक सआदतगंज सिद्धार्थ मिश्रा के मुताबिक लोहे के दरवाजे को पड़ोसियों ने गैस सिलिंडर से तोड़कर आयुष्मान को बाहर निकला और ट्रॉमा सेंटर ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रुमिका ने पुलिस से पोस्टमार्टम न कराने की गुहार लगाई। इस पर ट्रॉमा सेंटर चौकी प्रभारी ने उच्चाधिकारियों से बातचीत कर शव का पंचनामा कर रुमिका को सौंप दिया।