उत्‍तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने बहन का किया प्रमोशन, देश की दूसरी सबसे शक्तिशाली नेता बनी

636
FILE PHOTO

उत्‍तर कोरिया के तानाशाह क‍िम जोंग उन ने अपनी बहन का किम यो जोंग का प्रमोशन करके उन्‍हें देश में दूसरा सबसे शक्तिशाली नेता बना दिया है. दक्षिण कोरिया की खुफिया एजेंसी ने बताया कि 32 साल की किम यो जोंग को अब अमेरिका और दक्षिण कोरिया से जुड़े मामलों को देखने के लिए उत्‍तर कोरिया का प्रभारी बनाया गया है. इस तरह से वह अब देश में अघोषित रूप से दूसरे नंबर की नेता हो गई हैं. इस बीच किम जोंग उन की बीमारी को लेकर दुनियाभर में अटकलें और तेज हो गई हैं.

उत्‍तर कोरिया ने दावा किया है कि किम जोंग उन ने शासन के ‘तनाव’ को कम करने के लिए अपनी कुछ शक्तियां बहन को दे दी हैं. हालांकि किम जोंग उन अभी भी उत्‍तर कोरिया पर पूरा अधिकार रखते हैं. किम जोंग उन ने अपनी बहन का यह प्रमोशन ऐसे समय पर किया है जब वह मौत की अफवाहों के बीच करीब 21 दिनों तक लापता रहने के बाद सामने आए थे.

दक्षिण कोरिया की खुफिया कमिटी के सदस्‍य हा ताई क्‍यूंग ने कहा कि गुरुवार को यह सत्‍ता का हस्‍तातंरण हुआ. उन्‍होंने बताया कि किम जोंग उन अभी भी पूरी शक्तियां रखते हैं लेकिन वह धीरे-धीरे इसे अपनी बहन को सौंप रहे हैं. चोसून इल्‍बो अखबार की रिपोर्ट में कहा गया है कि किम जोंग उन अभी भी सत्‍ता पर अपना पूरा अधिकार रखते हैं. इस बीच दक्षिण कोरिया ने कहा है कि इससे यह नहीं हो जाता है कि किम जोंग उन ने अपनी बहन को अपना उत्‍तराधिकारी बना दिया है.

बताया जाता है कि किम जोंग उन के पत्‍नी री सोल जू से तीन बच्‍चे हैं और किसी को भी सार्वजनिक रूप से नहीं देखा गया है. बताया जाता है कि ये बच्‍चे क्रमश: 10, 7 और 3 साल के हैं. गत मई महीने से ही किम जोंग उन के स्‍वास्‍थ्‍य को लेकर चल रही अटकलों के बाद से ही बहन किम यो जोंग उत्‍तर कोरिया के नेतृत्‍व के ढांचे में प्रमुख भूमिका निभा रही हैं.

इस बीच किम जोंग उन ने उत्‍तर कोरिया की अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर गंभीर चेतावनी जारी की है. किम जोंग ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा कि देश आज विभिन्‍न मोर्चों पर अनपेक्षित और गंभीर चुनौत‍ियों से जूझ रहा है. इसकी वजह से देश के विकास लक्ष्‍य ‘गंभीर रूप से पिछड़’ गया है. बता दें कि कोरोना वायरस और प्रतिबंधों के कारण उत्‍तर कोरिया गंभीर खाद्दान संकट का भी सामना करना पड़ रहा है.