Kartik Purnima 2021: कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी, वाराणसी में आज देव दिवाली के मौके पर जलाए जाएंगे 15 लाख दीए

315

स्नान-दान और पूजा के पावन महत्व वाली कार्तिक पूर्णिमा आज है. उत्तराखंड में हरिद्वार और उत्तर प्रदेश में वाराणसी और अयोध्या समेत कई जगहों पर श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगा रहे हैं. इसके अलावा आज वाराणसी में तुलसी पूजा और देव दीपावली भी है. इसके लिए काशी में भव्य तैयारियां की गई हैं. घाटों पर 15 लाख दीप जलाए जाएंगे. पढ़ें पूरी खबर.

15 लाख दीयों से जगमग होंगे वाराणसी के गंगा घाट

कार्तिक माह की पूर्णिमा तिथि यानी देव दीपावली पर्व पर वाराणसी के गंगा घाट 15 लाख दीयों से जगमग होंगे. विश्व विख्यात इस धार्मिक और सांस्कृतिक विरासत की परम्परा को देवताओं की दीपावली भी कहते हैं. वाराणसी में देव दीपावली के पर्व पर घाट, कुंड, गलियां और चौबारे दीपों से रौशन होंगे. साथ ही घाटों पर लेजर शो दिखेगा. वहीं, पहली बार कन्याएं मां गंगा की आरती उतारेंगी और 108 किलो फूल से श्रृंगार किया जाएगा. देव दीपावली की रात शिव की नगरी का नजारा देवलोक का आभास कराएगा. घाट, कुंड, गलियां, चौबारे और घर की चौखट दीयों की रौशनी से जगमग होगी. अस्सी से राजघाट तक 84 घाटों के बीच 22 से अधिक जगहों पर गंगा आरती का आयोजन किया जाएगा. शहर से लेकर गांव, घाट और नदियों के किनारों को रौशनी से सजाने की तैयारियां चल रही हैं. चेतसिंह घाट, राजघाट पर लेजर दिखाया जाएगा. वहीं बीजेपी नेता रविशंकर प्रसाद ने भी इस मौके पर शुभकामनाएं दी.