कर्नाटक हिजाब विवाद: बीजेपी नेता की सुप्रीम कोर्ट में याचिका, केंद्र और राज्यों को स्कूलों के लिए ‘कॉमन ड्रेस कोड’ लागू करने की मांग की

220
Hijab controversy

बीजेपी नेता और वकील अश्विनी उपाध्याय ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर केंद्र और राज्यों को स्कूलों के लिए कॉमन ड्रेस कोड लागू करने की मांग की है. इसके अलावा उन्होंने छात्रों में सामाजिक और राष्ट्रीय एकता का भाव जगाने के लिए दूसरे ज़रूरी कदम उठाने की भी मांग की है.

बता दें कि कल ही युवक कांग्रेस अध्यक्ष बी वी श्रीनिवास ने हिजाब पहनने को मुस्लिम लड़कियों के लिए मौलिक अधिकार का दर्जा देने के लिए याचिका दाखिल की थी. जिसके बाद अब अश्विनी उपाध्याय ने यह याचिका दायर की. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट यह कह चुका है कि वह फिलहाल हिजाब मामले में दखल नहीं देगा.

क्या है मामला

हिजाब विवाद की शुरुआत पिछले महीने उडुपी गवर्नमेंट प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज की कुछ छात्राओं के हिजाब पहनकर कॉलेज परिसर में जाने पर हुई थी, जिन्हें कक्षाओं में जाने की अनुमति नहीं दी गई. कॉलेज के अधिकारियों का कहना है कि जो छात्रा पहले बिना हिजाब के आती थीं, वे अब अचानक से हिजाब में आने लगी हैं. बाद में छात्राओं ने बिना हिजाब के कक्षाओं में जाने से इनकार करते हुए विरोध प्रदर्शन किया. यह मुद्दा एक विवाद बन गया और कर्नाटक के अन्य जिलों के साथ ही अन्य प्रदेशों में भी इस मुद्दे को उठाया जा रहा है. इसकी वजह से तनाव बना हुआ है और यहां तक कि हिंसा भी हो चुकी है.

हिजाब विवाद मामले की कर्नाटक हाईकोर्ट में सुनवाई जारी है. कर्नाटक हाईकोर्ट ने सुनवाई करते हुए गुरुवार को आदेश दिया था कि अंतिम आदेश तक छात्रों के लिए किसी भी धार्मिक प्रतीक की अनुमति नहीं है.