कंगना रनौत ने एक बार फिर किया बॉलीवुड पर हमला , कहा – फिल्मों में हिंदू धर्म का मजाक बनाया जाता है

307

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत(Kangana Ranaut) गाहे-बगाहे फिल्म इंडस्ट्री में फैले नेपोटिज्म, ग्रुपिज्म और फेवरेटिज्म को लेकर आवाज बुलंद करती रहती है। पिछले कुछ महीनों से कंगना ने हिंदी सिनेमा के अंतर्गत बनने वाली फिल्मों को लेकर भी तंज कसा है। हाल ही में कंगना ने सोशल मीडिया पर एक बार फिर बॉलीवुड फिल्मों के जरिए हिंदू धर्म का अपमान करने का आरोप लगाया है।

दरअसल फ्रांस की राजधानी पेरिस में टीचर की निर्मम हत्या को लेकर कंगना बैक टू बैक पोस्ट कर रही हैं। इसी कड़ी में एक यूजर ने आमिर खान(Aamir Khan) की फिल्म पीके में भगवान शिव का मजाक उड़ाने की बात लिखी। इसी को रिट्वीट करते हुए कंगना ने लिखा- बॉलीवुड हमेशा से ही ये करता आया है। बेहद अपमानजनक फिल्में बनाते हैं जिनमें हमारे धर्म का मजाक बनाया जाता है और फिर बताते हैं कि हमें भगवा रंग से डर लगता है। इनका ये सब एजेंडा है।

इतना ही नहीं कंगना ने लिखा- इस साल की शुरुआत दिल्ली दंगों से हुई बेंगलुरु में हुए दंगे भी सबको याद होंगे जहां पर हिंदू महिलाओं को उनके पति द्वारा सिर्फ इसलिए मार दिया गया था क्योंकि वो अपना धर्म नहीं बदल रही थी। पेरिस में इस टीचर की हत्या भी सिर्फ इसीलिए की गई है । क्या हम उस किताब में से चार पन्नों को हटा नहीं सकते हैं जिनमें लिखा है कि काफिरों को मारना चाहिए ?

जाहिर है कंगना के ये ट्वीट उनको आने वाले दिनों में मुसीबत में ला सकते हैं। आपको बता दें हाल ही में मोहम्मद साहिल अशरफ अली नाम के एक शख्स ने कंगना के खिलाफ मुंबई के बांद्रा कोर्ट में अर्जी लगाई है। इस शख्स ने अर्जी में कहा है कि कंगना रनौत सोशल मीडिया पर सांप्रदायिकता फैलाती हैं।

अर्जी में लिखा गया है कि कंगना अपने पोस्ट के जरिए बॉलीवुड में हिंदू मुस्लिम समुदाय में झगड़ा कराने की कोशिश करती हैं।बता दे इस अर्जी के बाद बांद्रा कोर्ट ने कंगना रनौत के खिलाफ एफआईआर करने के आदेश दे दिए हैं। अगर कंगना के खिलाफ पुख्ता सबूत मिलते हैं तो फिर उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जा सकती है।