कंगना का आरक्षण पर बड़ा बयान – गरीबी के आधार पर मिले आरक्षण, ब्राह्मणों की स्थिति पर जताया दुख

330

देश में आरक्षण का मुद्दा काफी संवेदनलीश माना जाता है. इस एक मुद्दे पर सरकारें गिराईं और बनाई जाती हैं. लंबे समय से इस बात पर बहस छिड़ी हुई है कि आरक्षण देने का आधार क्या होना चाहिए. आरक्षण जाति के आधार पर मिलना चाहिए या फिर इंसान की आर्थिक स्थिति को देखते हुए? अब इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर एक्ट्रेस कंगना रनौत ने अपनी राय रखी है।

कंगना ने सोशल मीडिया पर एक ट्वीट कर स्पष्ट कहा है कि आरक्षण हमेशा गरीबी के आधार पर मिलना चाहिए. उनकी नजरों में जाति के नाम पर आरक्षण देना ठीक नहीं है. वे लिखती हैं- आरक्षण तो हमेशा गरीबी को आधार बनाकर देना चाहिए. जाति के नाम पर आरक्षण नहीं होना चाहिए. मुझे पता है कि राजपूत समुदाय काफी तकलीफ में है, लेकिन ब्राह्मणों की स्थिति देख भी बहुत दुख होता है.

अब कंगना रनौत ने अपने ट्वीट में दो बड़ी बाते कही हैं. एक तरफ तो उन्होंने आरक्षण को गरीबी के आधार पर देने की वकालत की है, तो वहीं दूसरी तरफ उन्होंने ब्राह्मणों की स्थिति पर चिंता जाहिर की है. अपने ट्वीट में कंगना ने ब्राह्मणों का जिक्र इसलिए किया है क्योंकि यूजर ने पोस्ट शेयर कर बताया है कि 55 प्रतिशत ब्राह्मण ऐसे हैं जो गरीबी रेखा से नीचे हैं. कंगना ने इससे पहले भी आरक्षण को लेकर बयान दिए हैं और हर बार उन बयानों पर बवाल भी होता दिखा है. इस बार भी सोशल मीडिया पर लोगों की राय बंट गई है. कई कंगना के विचारों से सहमत नजर आ रहे हैं, तो कई ऐसे भी हैं जिनकी नजरों में कंगना को आरक्षण के बारे में विस्तार से पढ़ना चाहिए.

कंगना पर FIR

मालूम हो कि इस समय कंगना रनौत पर गिरफ्तारी की भी तलवार लटक रही है. उनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के मामले में FIR दर्ज की गई है. मुंबई पुलिस इस मामले की जांच कर रही है जिनके साथ कंगना की लंबे सयम ते तनातनी चल रही है. दोनों रंगोली और कंगना को अगले हफ्ते पूछताछ के लिए बुलाया गया है.