कंगना रनौत की बीएमसी के खिलाफ याचिका पर आज नहीं होगी सुनवाई,भारी बारिश के चलते कोर्ट की छुट्टी

693

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत की बीएमसी के खिलाफ याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट आज साढ़े 11 बजे सुनवाई करने वाली थी लेकिन अब भारी बारिश के चलते आज इस मामले पर सुनवाई स्थगित कर दी गई है. कंगना ने उनके मुंबई स्थित दफ्तर में हुई तोड़फोड़ के लिए BMC से 2 करोड़ रुपये के हर्जाने की मांग की है. मालूम हो कि 9 सितंबर को BMC ने कंगना के पाली हिल वाले दफ्तर के निर्माण को अवैध बताते हुए ऑफिस के कई हिस्सों पर बुलडोजर चला दिया था.

इसके बाद कंगना ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया. जिसके बाद उसी दिन कोर्ट ने बीएमसी की कार्रवाई पर रोक लगा दी थी. फिर 15 सितंबर को कंगना रनौत ने अपनी संशोधित याचिका में बीएमसी की कार्रवाई को लेकर मुआवजे के रूप में दो करोड़ रुपये की मांग की थी. इस मामले में सुनवाई 22 सितंबर को रखी गई थी. हालांकि अब भारी बारिश के चलते आज सुनवाई नहीं होगी.

कंगना रनौत और बीएमसी मामले पर सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट ने कहा कि संजय राउत के भाषण और टिप्पणियों को याचिका में शामिल किया गया है, तो क्या उन्हें जवाब देने का अवसर नहीं दिया जाना चाहिए. वह कह सकते हैं कि यह एक मनगढ़ंत सीडी है. इसलिए यदि आप इस पर भरोसा कर रहे हैं तो उन्हें एक मौका दिया जाना चाहिए.

कंगना के वकील बीरेंद्र सर्राफ का कहना था कि हम उन्हें शामिल नहीं कर रहे हैं. इस पर कोर्ट ने कहा कि यदि आप दुर्भावना और दुर्भावनापूर्ण तर्क देने जा रहे हैं, तो आप भी बहस करने में सक्षम नहीं होंगे. आप भी “उखाड़ फेंकेंगे” पर बहस नहीं कर पाएंगे. कोर्ट की फटकार के बाद सर्राफ ने कहा कि ठीक है हम उन्हें शामिल कर लेंगे. कोर्ट ने निर्देश देते हुए कहा कि संजय राउत और बीएमसी वार्ड अधिकारी को भी पार्टी बनाया जाए.

कैसे शुरू हुआ बवाल?
कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार के बीच ये पूरा बवाल सुशांत मामले को लेकर चल रही जुबानी बहस से शुरू हुआ. इस बहस में कंगना शिवसेना पर, और शिवसेना कंगना पर निशाना साधते चले आ रहे थे. इसी बीच कंगना ने महाराष्ट्र आने की बात पर कहा कि रोक सको तो रोक लो. उधर शिवसेना के हजारों समर्थक एयरपोर्ट पर कंगना वापस जाओ के नारे लगाने लगे और इधर बीएमसी ने कंगना के ऑफिस पर तोड़फोड़ कर दी.