जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने अनंतनाग में हेड कॉन्‍स्टेबल की गोली मारकर हत्या की, तलाशी में जुटी पुलिस

    367
    Jammu and Kashmir Encounter

    जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिला में शनिवार को आतंकवादियों ने एक पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस के एक प्रवक्ता ने बताया कि जम्मू कश्मीर पुलिस के हेड कॉन्‍स्टेबल अली मोहम्मद गनी को अनंतनाग के बिजबेहरा के तबला इलाके में हसनपोरा स्थित उनके आवास के पास आतंकवादियों ने गोली मार दी. गनी को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया.

    वहीं, जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने जम्मू-कश्मीर पुलिस के हेड कांस्टेबल अली मोहम्मद की नृशंस हत्या की निंदा की है. घाटी में मुख्यधारा की पार्टियां इस घटना की निंदा कर रही हैं.

    प्रवक्ता ने बताया, गनी कुलगाम पुलिस थाना में तैनात थे. हम शहीद को श्रद्धांजलि देते हैं और इस मुश्किल घड़ी में उनके परिवार के साथ हैं. उन्होंने बताया कि पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. कई पार्टियों और नेताओं ने इस हमले की निंदा की है।

    नेशनल कांफ्रेंस (नेकां) के अध्यक्ष फारुक अब्दुल्ला और पार्टी उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने पुलिसकर्मी की हत्या की निंदा की. फारूक अब्दुल्ला ने कहा. ”किसी भी अभिव्यक्ति में हिंसा हमेशा अस्वीकार्य है और आगे मृत्यु और विनाश के अलावा कुछ भी नहीं मिलेगा. मृत्यु के दुष्चक्र ने पिछले तीन दशकों के दौरान लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थितियों को तबाह करते हुए जम्मू-कश्मीर में मानव जीवन को बहुत नुकसान पहुंचाया है. अब समय आ गया है कि इस तरह की घटनाओं को रोका जाए. मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवार के साथ हैं.”

    उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, ”एचसी अली मोहम्मद गनी की ड्यूटी के दौरान मौत के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. मैं इस हमले की घोर निंदा करता हूं और साथ ही उनके परिवार और प्रियजनों के प्रति अपनी दिल से संवेदना व्यक्त करता हूं. अल्लाह उन्हें जन्नत नसीब करे, आमीन.”

    पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, ”मृतक के परिवार और प्रियजनों के प्रति गहरी संवेदना. जम्मू कश्मीर के लोग हिंसा के इस मूर्खतापूर्ण चक्र के शिकार हैं जो बेकसूरों की जान लेता रहता है.”

    पीपुल्स कांफ्रेंस के अध्यक्ष सज्जाद लोन ने ट्वीट किया, एक बार फिर मूर्खतापूर्ण हिंसा का भीषण कृत्य. जेके पुलिस के अली मोहम्मद गनी कायरतापूर्ण हिंसक ठगों की गोलियों के शिकार हो गए. उनके बलिदान को सलाम.

    अपनी पार्टी के अध्यक्ष सैयद मोहम्मद अल्ताफ बुखारी ने भी पुलिसकर्मी की हत्या की कड़ी निंदा की और हमले को कायरतापूर्ण और अत्यंत हृदय विदारक करार दिया. बुखारी ने कहा कि किसी भी सभ्य समाज में हिंसा के लिए कोई स्थान नहीं है और इसे सही नहीं ठहराया जा सकता है. उन्होंने कहा, कितने बेगुनाहों की और कुर्बानी दी जानी है और कितने घर अब भी तबाह होने के बाकी हैं? इन चरमपंथी ताकतों ने लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं और इस बेहूदा हिंसा को हमेशा के लिए खत्म करने की जरूरत है. मैं इस घिनौने हमले की कड़ी निंदा करता हूं और मारे गए पुलिसकर्मी के परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं.

    भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की जम्मू कश्मीर इकाई ने भी हमले की निंदा की. भाजपा महासचिव, संगठन, अशोक कौल ने हत्या को बर्बर और कायरतापूर्ण कृत्य करार दिया, जिसका सभ्य समाज में कोई स्थान नहीं है. उन्होंने शोक संतप्त परिवार के प्रति शोक व्यक्त किया.