जम्मू-कश्मीर: मजदूरों की हत्‍याओं में शामिल LeT के 2 टॉप आतंकी समेत 4 ढेर, NIA ने चार को पकड़ा

    255
    Indian Army in Kashmir

    सुरक्षा बलों ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के उन दो कमांडरों सहित चार आतंकवादियों को ढेर कर दिया जो प्रवासी मजदूरों की हत्या में शामिल थे. कश्‍मीर में पिछले दो हफ्ते में अब तक दो सप्ताह में अब तक 15 आतंकवादी मारे गए हैं. वहीं राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आज चार में 11 स्थानों पर तलाशी ली जम्मू और कश्मीर के जिलों और जम्मू-कश्मीर आतंकवाद साजिश मामले में चार आरोपी व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है. वहीं, किश्तवाड़ जिले में हथगोले के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर एक आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया. गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान डोडा जिले के सोहेल अहमद भट के रूप में हुई है.

    बता दें कि जम्मू कश्मीर में पुंछ और राजौरी जिलों के घने जंगलों में छिपे आतंकवादियों के खिलाफ लगातार 10वें दिन बुधवार को भी व्यापक तलाश अभियान जारी रहा. वहां पिछले हफ्ते दो अलग-अलग हमलों में नौ सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे.

    ग्रेनेड के साथ लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित आतंकवादी अरेस्‍ट
    जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक, किश्तवाड़ ज़िले में आज शाम करीब साढ़े पांच बजे एक संयुक्त नाके के दौरान एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है, जिसके पास से एक ग्रेनेड बरामद हुआ है. गिरफ्तार आतंकवादी लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित है. उसे पाकिस्तान से लश्कर के एक आतंकी ने ग्रेनेड भेजा था. सुरक्षा बलों ने बुधवार को किश्तवाड़ जिले में हथगोले के साथ एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर एक आतंकी साजिश को नाकाम कर दिया. गिरफ्तार व्यक्ति की पहचान डोडा जिले के सोहेल अहमद भट के रूप में हुई है।

    11 जगह पर एनआई के छापे, 4 को पकड़ा
    राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने आज चार में 11 स्थानों पर तलाशी ली. जम्मू और कश्मीर के जिलों और जम्मू-कश्मीर आतंकवाद साजिश मामले में चार आरोपी व्यक्तियों को गिरफ्तार किया.

    अब तक 15 आतंकवादियों का सफाया
    एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शोपियां के दरगड़ में मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए जबकि दो आतंकवादी कुलगाम जिले में मुठभेड़ में मारे गए. दो सप्ताह में अब तक 15 आतंकवादी मारे गए हैं. इस बीच शोपियां अभियान में एक सैनिक शहीद हो गए जबकि दो अन्य घायल हो गए.

    प्रवासी मजदूरों के हत्‍यारे आतंकी ढेर
    कुलगाम में लश्कर-ए-तैयबा का कमांडर गुलजार अहमद रेशी और एक अन्य आतंकवादी वानपोह में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए है, ये 17 अक्टूबर को हुई बिहार के 2 मज़दूरों की हत्या में शामिल थे. कश्मीर जोन के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने एक ट्वीट में कहा कि पुलिस और सेना ने कुलगाम में लश्कर के जिला कमांडर (गुलजार अहमद रेशी) और एक अन्य को मार गिराया जो 17 अक्टूबर को बिहार के दो गरीब मजदूरों की हत्या में शामिल थे.

    कुलगाम जिले में मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मार गिराया गया
    एक रक्षा प्रवक्ता के अनुसार, कुलगाम जिले में अशमुजी-देवसर सड़क पर दो आतंकवादियों की आवाजाही की सूचना मिलने के बाद बुधवार शाम को संयुक्त अभियान शुरू किया गया. इलाके की घेराबंदी कर दी गई और बार-बार आत्मसमर्पण की अपील की गई जिसे आतंकवादियों ने ठुकरा दिया. उन्होंने कहा कि आतंकवादियों ने गोलियां चलाईं और सुरक्षा बलों ने जवाबी कार्रवाई की. उन्होंने कहा, “इसके बाद हुई मुठभेड़ में, दो आतंकवादियों को मार गिराया गया. एक एके राइफल और युद्ध जैसे अन्य सामान बरामद किए गए हैं.”

    शोपियां जिले के दरगड़ इलाके में टीआरएफ के दो आतंकी मारे गए
    इससे पहले दिन में, आतंकवादियों की उपस्थिति की सूचना मिलने के बाद सुरक्षाबलों ने शोपियां जिले के दरगड़ इलाके में घेराबंदी और तलाशी अभियान चलाया. आतंकवादियों ने गोलीबारी शुरू कर दी जिसके बाद सुरक्षाकर्मियों को जवाबी कार्रवाई करनी पड़ी. अधिकारियों ने बताया कि लश्कर ए तैयबा का मुखौटा संगठन ‘द रेजिस्टेंस फ्रंट’ (टीआरएफ) के दो आतंकवादियों को मार गिराया गया है.

    तीन घायल जवानों में से एक जवान शहीद
    रक्षा प्रवक्‍ता ने कहा, तीन सुरक्षाकर्मी इस अभियान में घायल हो गए. उनमें से एक की बाद में यहां एक अस्पताल में मौत हो गई.” मारे गए आतंकवादियों में से एक की पहचान आदिल वानी के रूप में की गई है जिसने जो 2020 में आतंकी संगठन में शामिल हुआ था.

    यूपी के सहारनपुर के सगीर अहमद की हत्‍या में शामिल रहे आतंकवादी का भी सफाया
    कुमार ने एक अन्य ट्वीट में कहा, मारे गए एक आतंकवादी की पहचान आदिल अहमद वानी के रूप में की गई है, जो जुलाई 2020 से सक्रिय था. दो सप्ताह में अब तक 15 आतंकवादियों को मारा जा चुका हैृ.” उन्होंने कहा कि वानी उत्तर प्रदेश में सहारनपुर के रहने वाले सगीर अहमद की हत्या में शामिल था.

    एनआईए ने जम्मू-कश्मीर में छापेमारी कर आतंकवादियों के 4 सहयोगियों के गिरफ्तार किया
    राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर के चार जिलों में कई स्थानों पर तलाशी ली और आतंकवाद की साजिश के मामले में आतंकवादियों के चार कथित सहयोगियों को गिरफ्तार किया. जांच एजेंसी ने जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर, पुलवामा, कुलगाम और बारामूला जिलों में 11 स्थानों पर तलाशी ली। कुलगाम से सुहैल अहमद थोकर, श्रीनगर से कामरान अशरफ रेशी, रयद बशीर और हनान गुलजार डार को गिरफ्तार किया गया है.

    लश्कर, जैश, हिज्ब, अल बद्र , टीआरएफ, पीएएफएफ की आतंकवादी साज‍िश का मामला
    एनआईए अधिकारी ने कहा कि यह मामला लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम), हिज्ब-उल-मुजाहिदीन (एचएम) और अल बद्र समेत विभिन्न प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों और द रेसिस्टेंस फ्रंट (टीआरएफ) तथा पीपल अगेंस्ट फासिस्ट फोर्सेज (पीएएफएफ) जैसे उनके सहयोगी संगठनों के कैडरों द्वारा जम्मू-कश्मीर के प्रमुख शहरों में हिंसक आतंकवादी कृत्यों को अंजाम देने की साजिश से संबंधित है।

    एनआईए ने अब तक नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया
    एनआईए ने 10 अक्टूबर को मामला दर्ज करने के बाद से अब तक नौ आरोपियों को गिरफ्तार किया है. अधिकारी ने कहा कि तलाशी में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण की बरामद और जब्ती हुए हैं. जेहादी दस्तावेजों / पोस्टरों के अलावा अन्य सामान भी जब्त किया गया है.
    एनआईए अधिकारी ने कहा कि चारों आरोपी विभिन्न प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों के सहयोगी / ओजीडब्ल्यू (ओवर ग्राउंड वर्कर) हैं और आतंकवादियों को साजो-सामान तथा सामग्री सहायता प्रदान करते रहे थे। उन्होंने कहा कि मामले की जांच जारी है.

    पुंछ-राजौरी वन क्षेत्र में व्यापक तलाश अभियान जारी
    जम्मू कश्मीर में पुंछ और राजौरी जिलों के घने जंगलों में छिपे आतंकवादियों के खिलाफ लगातार 10वें दिन बुधवार को भी व्यापक तलाश अभियान जारी रहा. वहां पिछले हफ्ते दो अलग-अलग हमलों में नौ सैन्यकर्मी शहीद हो गये थे.अधिकारियों ने बताया कि नियंत्रण रेखा से चार किमी की दूरी पर जंगल में मार्च कर रहे सैनिकों की सहायता के लिए ड्रोन और हेलीकॉप्टर तैनात किये गये हैं. आतंकवादियों को मार गिराने के लिए पूरे जंगल की कड़ी सुरक्षा घेराबंदी की गई है. आतंकवादियों को साजो सामान मुहैया कराने के सिलसिले में पूछताछ के लिए आठ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है, जिनमें एक मां- बेटा भी शामिल है. अभियान के मद्देनजर एहतियाती उपाय के तहत जम्मू-राजौरी राजमार्ग पर मेंढर और थानमंडी के बीच यातायात बंद है.