ओलंपिक में इतिहास रचने से चूक गईं गोल्फर अदिति अशोक लेकिन शानदार खेल दिखा जीता सबका दिल, राष्ट्रपति ने कहा- ऐतिहासिक प्रदर्शन

370

भारत की स्टार और युवा गोल्फर अदिति अशोक अपने पहले ओलंपिक पदक से एक स्थान से चूक गईं। वर्ल्ड रैंकिंग में 200वें नंबर की इस खिलाड़ी ने अपने दूसरे ही ओलंपिक में चौथा स्थान हासिल किया। 23 वर्षीय अदिति ने चार दिन तक चले चार राउंड के खेल में दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी नेली कोरडा को कड़ी टक्कर दी। तीन दिनों तक वह कई बार दूसरे और तीसरे स्थान पर भी रहीं। एक वक्त ऐसा लग रहा था कि अदिति भारत को गोल्फ में ओलंपिक इतिहास का पहला मेडल दिला देंगी लेकिन आज आखिरी दिन वह बहुत करीब से अपने प्रतिद्वंदी से पिछड़ गईं। 

अदिति का यह दूसरा ही ओलंपिक है और उन्होंने इस दौरान वह उपलब्धि हासिल कर ली, जो आज से पहले ओलंपिक में कोई भी भारतीय महिला गोल्फर हासिल नहीं कर पाई थी। अदिति ओलंपिक खेलों में चौथा स्थान हासिल करने वाली पहली भारतीय महिला गोल्फर हैं। यही कारण है कि अदिति के प्रदर्शन की  हर तरफ चर्चा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर राष्ट्रपति तक, हर कोई उनकी सराहना कर रहा है।