IND vs SA 3rd ODI: केएल राहुल ने वनडे सीरीज हारने के दिया बयान – जुनून और प्रयास के लिए टीम को दोष नहीं दे सकते

298
Lucknow Super Giants KL Rahul
Lucknow Super Giants KL Rahul

साउथ अफ्रीका के हाथों भारत को तीसरे वनडे मैच में 4 रनों से हार का सामना करना पड़ा। इस हार के साथ टीम इंडिया ने यह सीरीज 0-3 से गंवाई। इस निराशाजनक प्रदर्शन के बाद भारतीय कप्तान केएल राहुल ने कहा कि पूरी सीरीज के दौरान टीम ने काफी गलतियां की और इससे वह सीख लेंगे। बता दें, स.अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत के सामने 288 रनों का लक्ष्य रखा था। इस स्कोर के सामने टीम इंडिया 283 रनों पर ही ढेर हो गई।

राहुल ने मैच के बाद कहा “दीपक ने हमें मैच जीतने का असली मौका दिया। काफी रोमांचक खेल था, निराशाजनक रहा कि हम हारे। हमने खुद को एक वास्तविक मौका दिया, कुछ ऐसा जिससे हम सीख सकते हैं और बेहतर हो सकते हैं। बिल्कुल स्पष्ट है कि हम कहाँ गलतियां की। इससे कोई परहेज नहीं है। कई बार हमारा शॉट चयन खराब रहा है।”

उन्होंने आगे कहा “गेंद से भी हम लगातार सही क्षेत्रों में हिट नहीं कर रहे हैं। हमने टुकड़ों में अच्छा खेल दिखाया मगर हम लंबे समय तक दबाव नहीं बना सके। जुनून और प्रयास के लिए लड़कों को दोष नहीं दे सकते। कौशल और स्थिति को समझने के मामले में – कभी-कभी हम गलत हो जाते हैं। लेकिन ऐसा होता है – हमारे पास टीम में कुछ नए लोग हैं। वनडे सीरीज में हम कई बार वही गलतियां करते रहे हैं। यह विश्व कप के लिए हमारी यात्रा की शुरुआत है। हम वापस जा सकते हैं, कुछ कठिन बातचीत कर सकते हैं। SA में बहुत अच्छा समय बीता है। वास्तव में अच्छी तरह से देखभाल की गई है। हमने बहुत संघर्ष दिखाया है।”

बात मैच की करें तो साउथ अफ्रीका ने क्विंटन डी कॉक के शानदार शतक की मदद से पहले बल्लेबाजी करते हुए 287 रन बनाए थे। डिकॉक ने इस दौरान 130 गेंदों का सामना करते हुए 12 चौकों और दो छक्कों की मदद से 124 रन की लाजवाब पारी खेली। अपनी पारी के दौरान डिकॉक ने वैन डर डुसेन के साथ चौथी विकेट के लिए 144 रनों की शानदार साझेदारी भी की थी। भारत के लिए प्रसिद्ध कृष्णा ने सबसे अधिक तीन विकेट लिए।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी टीम इंडिया की शुरुआत बेहद खराब रही। कप्तान केएल राहुल महज 9 रन बनाकर पवेलियन लौटे। इसके बाद शिखर धवन (61) ने विराट कोहली (65) के साथ मिलकर टीम इंडिया को संभाला और दोनों खिलाड़ियों के बीच 98 रन की साझेदारी हुई। इन दोनों खिलाड़ियों के पवेलियन लौटने के बाद ऐसा लगा था कि टीम इंडिया यह मैच आसानी से हार जाएगी, मगर एक समय पर आकर दीपक चाहर (54) ने अर्धशतकीय पारी खेलकर जीत की उम्मीद जगाई। मगर 48वें ओवर में उनके विकेट के साथ यह उम्मीद भी टूट गई। भारतीय पारी 49.2 ओवर में सिमट गई।