IND vs AUS : चेतेश्वर पुजारा को नेट सेशन के दौरान लगी चोट, मुश्किल में आ सकती है भारतीय टीम

209

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैच की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी में 7 जनवरी से खेला जाना है। इस मैच के लिए टीम इंडिया ने आज यानी शनिवार से ही नेट्स में पसीना बहाना शुरू कर दिया है। प्रैक्टिस करने उतरे टीम के महत्वपूर्ण बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा के दाएं हाथ की उंगली पर चोट लग गई है। ट्विटर पर वायरल तस्वीरों में देखा जा रहा है कि पुजारा के हाथ में चोट लगने के बाद उनकी उंगली से खून भी निकला है जिसके बाद बीसीसीआई की मेडिकल टीम उनके पास भी पहुंची। हालांकि अभी तक उनकी चोट पर कोई औपचारिक घोषणा नहीं हुआ है।

अगर चेतेश्वर पुजारा की यह चोट ज्यादा गंभीर हुई तो भारत की मुश्किलें बढ़ सकती है। उमेश यादव और मोहम्मद शमी पहले ही चोट के चलते इस टेस्ट सीरीज से बाहर हो गए हैं, वहीं कोहली भी पैटर्निटी लीव पर भारत लौट आए हैं।

बात अगर सीरीज की करें तो भारत ने पिछला बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच 8 विकेट से जीतकर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। विराट कोहली के जाने के बाद कप्तानी का जिम्मा अजिंक्य रहाणे ने उठाया और उनकी अगुवाई में टीम इंडिया ने मेजबानों को मेलबर्न टेस्ट में धूल चटाई। इससे पहले एडिलेड में खेले गए पिंक बॉल टेस्ट मैच में टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया के हाथों 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा था।

तीसरा टेस्ट मैच सिडनी में 50 प्रतिशत दर्शकों के बीच खेला जाना है, लेकिन पिछले दिनों वहां कोविड-19 के केस में इजाफा हुआ है जिसके बाद वहां खतरे के बादल मंडराने लगे हैं।

सिडनी में 31 दिसंबर को 10 नए कोविड-19 मामले सामने आए हैं। इससे दो सप्ताह में पॉजिटिव मामलों की संख्या 170 हो गई है। चैनल-9 की रिपोर्ट के मुताबिक, तीसरा टेस्ट एससीजी पर बिना दर्शकों के खेले जाने की बात भी की जा रही है।

नाइन न्यूज सिडनी की रिपोर्ट के मुताबिक, “बल्यू माउंटेन, इलावारा कोविड से काफी ज्यादा प्रभावित हैं।”

एससीजी से 30 किलोमीटर की दूरी पर स्थित बेराला और स्मिथफील्ड अलर्ट पर हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है, “मास्क पहनना अनिवार्य करने की चर्चाएं हैं और सात तारीख से शुरू हो रहे मैच में दर्शकों को न बुलाने की बात भी की जा रही है। यह होता है कि नहीं यह देखना होगा। हमें दिन में बाद में न्यू साउथ वेल्स के प्रीमियर से पता चलेगा। लेकिन आंकड़े काफी अहम हैं, 2020 के आखिरी दिन में 10 मामले सामने आए हैं।”