उत्तर प्रदेश में 11 जनवरी को तीसरी बार होगा ड्राई रन, सीएम योगी आदित्यनाथ ने दिए तैयारियों की निगरानी के निर्देश

189
cm yogi

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना टीकाकरण की सभी तैयारियां समय से पूरी करने के साथ इसके लिए जिलों में किए जा रहे कार्यों की नियमित निगरानी और मार्गदर्शन करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना टीकाकरण के लिए 11 जनवरी को प्रदेश में फिर से आयोजित किए जा रहे ड्राई रन को पूरी प्रतिबद्धता से संचालित करते हुए सभी तैयारियों की गहन समीक्षा की जाए।

प्रदेश में पांच और आठ जनवरी को सफलतापूर्वक ड्राई रन का संचालन किया जा चुका गया है। अब तीसरी बार 11 जनवरी को भी ड्राई रन का संचालन किया जाएगा। देश में पहला राज्य यूपी है, जो कोरोना वैक्सीन को लेकर तीसरी बार भी ड्राई रन करने जा रहा है। यह अभियान सभी जिलों के छह स्थानों ( तीन शहरी और तीन ग्रामीण) में चलाया जाएगा। प्रदेश में तीन चरणों में टीकाकरण का संचालन किया जाएगा।

लोक भवन में शुक्रवार को अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में 2.5 करोड़ से अधिक कोरोना टेस्ट किए जाने पर संतोष जताते हुए उन्होंने टेस्टिंग कार्य को पूरी क्षमता से संचालित करने का निर्देश दिया। अकेले किंग जॉर्ज चिकित्सा विवि में 10 लाख आरटीपीसीआर टेस्ट किए जा चुके हैं। सीएम योगी ने कोविड-19 के दृष्टिगत प्रत्येक स्तर पर पूरी सतर्कता बरतने और अस्पतालों की व्यवस्थाओं को चुस्त-दुरुस्त बनाए रखने का निर्देश दिया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10 जनवरी से प्रदेश के ग्रामीण व शहरी इलाकों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर फिर से शुरू किये जा रहे मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों के आयोजन और 17 जनवरी को पल्स पोलियो अभियान के संचालन की सभी तैयारियां समय से पूरी करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 10 जनवरी से प्रदेश के ग्रामीण व शहरी इलाकों के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर फिर से शुरू किये जा रहे मुख्यमंत्री आरोग्य मेलों के आयोजन और 17 जनवरी को पल्स पोलियो अभियान के संचालन की सभी तैयारियां समय से पूरी करने के निर्देश दिए।

वैक्सीनेशन के बाद संबंधित व्यक्ति को एक कार्ड दिया जाएगा। इस पर नाम, पता आदि के अलावा वैक्सीन के अगले डोज की तारीख भी लिखी होगी। जिनका टीकाकरण होना है, उनका नाम पहले से ही तय होगा। केवल वही लोग टीकाकरण केंद्र पर जा सकेंगे। वहां सत्यापन के बाद टीका लगेगा। फिर ऑब्जर्वेशन रूम में आधा घंटा गुजारना होगा।