129 साल बाद क्रिकेट को ओलिंपिक में शामिल कराने की हो रही तैयारी – ICC ने उठाया ये बड़ा कदम

460

23 जुलाई से जापान की राजधानी टोक्यो में शुरू हुए ओलंपिक खेल अब खत्म हो चुके हैं। कोरोना वायरस महामारी के बीच आयोजित हुए इन खेलों में भारत ने अब तक का अपना बेस्ट प्रदर्शन किया। क्रिकेट के जबरदस्त शौकीन भारतीय फैन्स हमेशा इस चाहत में रहते हैं कि ओलंपिक खेलों में क्रिकेट गेम को भी शामिल किया जाए, जिससे देश के गोल्ड जीतने की संभावना बढ़ जाए। ओलंपिक खेलों में आखिरी बार क्रिकेट को सन 1900 में शामिल किया गया था। इस बीच फैन्स के लिए एक खुशखबरी सामने आ रही है, जिसके तहत जल्द ही में ओलंपिक खेलों में भी चौके-छक्के का रोमांच देखने को मिल सकता है। इस बात की सूचना इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने दी है।

आईसीसी ने मंगलवार को इस बात को कंफर्म किया है कि वह 2028 के लॉस एंजिल्स ओलंपिक खेलों में क्रिकेट को शामिल करने के लिए बोली लगाएगी। आईसीसी पिछले कुछ समय से लगातार क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल करने की दिशा में काम कर रहा है और अच्छी बात यह है कि उसे इस मामले में दुनिया के सबसे धनी क्रिकेट बोर्ड बीसीसीआई से सपोर्ट मिल रहा है। आईसीसी ने एक ओलंपिक वर्किंग ग्रुप भी बनाया है जो 2028 से शुरू होने वाले ओलंपिक खेलों में क्रिकेट को शामिल करने पर काम करेगा। बोर्ड सचिव जय शाह ने हाल ही में कहा था कि अगर क्रिकेट को ओलंपिक में शामिल किया जाता है तो बोर्ड इस मामले में पूरा समर्थन देगा।

आईसीसी के चेयरमैन ग्रेग बार्कले ने एक बयान में कहा कि, ‘इस बोली के पीछे हमारी पूरी खेल युनिट एकजुट है और हम ओलंपिक को क्रिकेट के लंबे भविष्य के हिस्से के रूप में देखते हैं। पूरी दुनिया में हमारे एक अरब से ज्यादा फैन्स हैं और उनमें से लगभग 90 प्रतिशत ओलंपिक में क्रिकेट गेम को देखना चाहते हैं।’ स्पष्ट रूप से क्रिकेट का एक मजबूत और भावुक फैन बेस है। यह विशेष रूप से दक्षिण एशिया में है, जहां हमारे 92% फैन्स आते हैं, जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका में भी 30 मिलियन से ज्यादा क्रिकेट फैन्स हैं।’