तालिबान ने अफगानिस्तान सरकार के मीडिया विभाग के प्रमुख दावा खान मीनापाल की गोली मारकर की हत्या

239

अफगानिस्तान सरकार के मीडिया और सूचना निदेशक दावा खान मेनपाल की काबुल में हत्या कर दी गई है। तालिबान ने दावा खान की हत्या की जिम्मेदारी ली है। टोलो न्यूज़ ने इस बात की जानकारी दी है। यह हत्या तालिबान द्वारा काबुल में रक्षा मंत्री के घर पर हमले के कुछ दिनों बाद हुई है। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने दावा खान की मौत को लेकर कहा है कि दावा को उसके कार्यों के लिए दंडित किया गया है।

दावा लगातार अफगान सरकार की बातों और स्टैंड को ट्वीट किया करते थे। दावा खान हालिया दिनों में पाकिस्तानी छद्म युद्ध के खिलाफ बहुत बोल रहे थे। बता दें कि दावा खान अफगान सरकार के पूर्व प्रवक्ता रहे हैं।

अफगानिस्तान गृह मंत्रालय के प्रवक्ता मीरवाइस स्टानिकजई ने दावा की हत्या को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा, ‘क्रूर आतंकियों ने एक बार फिर कायरतापूर्ण काम किया है। एक देशभक्त अफगान को शहीद कर दिया।’

अफगानिस्तान में हिंसा में तेजी
अफगानिस्तान में तालिबान की हिंसा बेरोकटोक जारी है। तालिबान ने एक बच्ची को बुर्का न पहनने के लिए मौत का घाट उतार दिया है। पिछले ही हफ्ते तालिबान ने मशहूर अफगान कॉमेडियन की हत्या कर दी थी। 5 अगस्त को तालिबान ने अफगानिस्तान के प्रसिद्ध कवि और इतिहासकार अब्दुल्ला आतिफी की हत्या कर दी थी।

तालिबान ने अफगान सुरक्षा बलों के साथ ही आम लोगों पर हमले तेज कर दिए हैं। तालिबान ने पूर्वोत्तर प्रांत तखर सहित कई जिलों पर कब्जा कर लिया है। तालिबान 100 से अधिक डिस्ट्रिक सेंटर्स पर कब्ज़ा कर चुकी है। रिपोर्ट्स बताती हैं कि 34 प्रांतीय राजधानियों में से 17 को तालिबान से सीधे तौर पर खतरा है।