हरियाणा: कुत्ते को बचाने के चक्कर में तालाब में डूबे 8 वर्षीय दो जुड़वा भाई

232

मां की कोख से एक साथ जन्म लेने के बाद खेल-खेल में बचपन को बिताने वाले बम्बूलिया गांव के अंश व वंश जुड़वा भाई इससे पहले की जवानी की दहलीज पर कदम रखते उससे पहले ही दोनों एक साथ दुनिया से रूकस्त हो गए. इन जुड़वां भाईयों की मौत (Death) पर जहां मां व बाप को रो-रोकर बुरा हाल है वहीं ग्रामीण भी इस हादसे से काफी दुखी है. पुलिस की मानें तो झज्जर (Jhajjar) के गांव बम्बूलिया के में अंश व वंश दो जुड़वां भाईयों ने सात साल पहले जन्म लिया था. लेकिन मंगलवार को खेल-खेल में ही वह एक कुत्ते के बच्चे को बचाने के चक्कर में  तालाब में डूब गए.

दोनों के शवों को सूचना मिलने के बाद पुलिस ने तालाब से बाहर निकलवाया. मंगलवार को झज्जर के नागरिक अस्पताल में पोस्टमार्टम कराए जाने के बाद पुलिस ने दोनों के शवों को परिजनों के हवाले कर दिया. बताया जाता है कि चहरे से मासूम दिखने वाले अंश व वंश मंगलवार को गांव की बनी में ही एक कुत्ते के बच्चे के साथ खेल रहे थे.

खेलने के दौरान ही कुत्ते का यह बच्चा बनी में ही एक तालाब के पानी में जा घुसा. उसी को बचाने के चक्कर में अंश व वंश दोनों ही तालाब में जा घुसे. लेकिन तालाब के पानी में जिस स्थान पर वह घुसे थे, वहीं पर कई फुट गहरा गड्ढा था, उसी गड्ढे में ही यह दोनों डूब गए. इससे पहले कि उन्हें पानी से बाहर सकुशल निकाला जाता उससे पहले ही वह दोनों डूब गए.