सोने और चांदी की वायदा कीमतों में दर्ज़ हुई गिरावट, जानिए आज का लेटेस्ट भाव

175
gold silver prices today
gold silver prices today

पिछले सत्र में उछाल के बाद आज मंगलवार को घरेलू बाजार में सोने और चांदी की वायदा कीमत में गिरावट आई। एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.19 फीसदी नीचे 47,495 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। चांदी की बात करें, तो यह 0.2 फीसदी गिरकर 62798 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही। पीली धातु पिछले साल के उच्चतम स्तर (56200 रुपये प्रति 10 ग्राम) से अब भी 8705 रुपये नीचे है। पिछले सत्र में सोना 0.9 फीसदी उछला था और चांदी में करीब दो फीसदी की तेजी आई थी। 

वैश्विक बाजारों में, आज हाजिर सोने का दाम 0.2 फीसदी गिरकर 1,801.78 डॉलर प्रति औंस पर रहा। डॉलर इंडेक्स सोमवार को 0.6 फीसदी गिरने के बाद आज 93.043 पर कारोबार कर रहा था। चांदी 0.5 फीसदी गिरकर 23.54 डॉलर प्रति औंस हो गई। IHS मार्किट के डाटा से पता चला है कि अगस्त में अमेरिकी व्यापार गतिविधि की वृद्धि लगातार तीसरे महीने धीमी रही क्योंकि क्षमता की कमी, आपूर्ति की कमी और तेजी से फैलते डेल्टा वैरिएंट ने पिछले साल की महामारी-प्रेरित मंदी से पलटाव की गति को कमजोर कर दिया।

दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या गोल्ड ईटीएफ, एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग्स शुक्रवार के 1,011.61 टन के मुकाबले सोमवार को 0.5 फीसदी गिरकर 1,006.66 टन हो गई। स्वर्ण ईटीएफ सोने की कीमत पर आधारित होते हैं। पीली धातु के दाम में आए उतार-चढ़ाव पर ही इसका दाम भी घटता-बढ़ता है। मालूम हो कि ईटीएफ का प्रवाह सोने में कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है। एक मजबूत डॉलर अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोने को अधिक महंगा बनाता है।

जुलाई में निवेशकों ने गोल्ड ईटीएफ से 61 करोड़ रुपये से अधिक की निकासी की। जबकि इससे पहले लगातार सात माह तक गोल्ड ईटीएफ में निवेश किया जा रहा था। इस दौरान आकर्षक रिटर्न की वजह से शेयरों और ऋण कोषों में निवेशकों का रुझान बढ़ा है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के अनुसार, इस श्रेणी में नकारात्मक प्रवाह के बावजूद जुलाई में फोलियो की संख्या बढ़कर 19.13 लाख हो गई। फरवरी 2020, दिसंबर 2020 और जुलाई 2021 के अतिरिक्त अगस्त 2019 से ईटीएफ में निवेश लगातार बढ़ा है।