सोने की वायदा दाम में 0.08 फीसदी की गिरावट, वहीं चांदी 145 रुपये निचे गिरी

893

वैश्विक रुख से भारत में सोने की कीमत प्रभावित हुई और आज घरेलू बाजार में पीली धातु की वायदा कीमत में गिरावट आई। आज एमसीएक्स पर सोना वायदा 0.08 फीसदी यानी 39 रुपये गिरकर 48357 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया। चांदी की बात करें, तो यह 0.21 फीसदी (145 रुपये) गिरकर 68055 रुपये प्रति किलोग्राम पर रही। पीली धातु पिछले साल के उच्चतम स्तर (56200 रुपये प्रति 10 ग्राम) से 7843 रुपये नीचे है।

लंबे समय तक सपाट स्तर पर रहने के बाद गुरुवार को भौतिक सोने और चांदी की कीमतों में तेजी आई। पीली धातु में 600 रुपये प्रति 10 ग्राम की तेजी आई जबकि चांदी में 1,500 रुपये प्रति किलोग्राम की तेजी आई। बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों, असमान वैश्विक आर्थिक सुधार और डॉलर के मुकाबले रुपये में उतार-चढ़ाव से कीमती धातुओं की कीमत प्रभावित होती है।

वैश्विक बाजारों में आज हाजिर सोना 1,827.28 डॉलर प्रति औंस हो गया। गुरुवार को यह 15 जुलाई के बाद के उच्च स्तर, 1,832.40 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया था। अमेरिकी सोना वायदा 0.2 फीसदी गिरकर 1,832.00 डॉलर प्रति औंस हो गया। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 25.53 डॉलर प्रति औंस पर सपाट रही। पैलेडियम 0.3 फीसदी ऊपर 2,652.71 डॉलर और और प्लैटिनम 1.00 फीसदी गिरकर 1,050.06 डॉलर पर रहा। डॉलर इंडेक्स ने एक महीने के निचले स्तर से ऊपर चढ़ने की कोशिश की। यह मई के बाद से अपने सबसे खराब साप्ताहिक प्रदर्शन की ओर अग्रसर था।

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) की रिपोर्ट के अनुसार, इस साल अप्रैल-जून तिमाही में भारत में सोने की मांग 19.2 फीसदी बढ़ी और यह 76.1 टन पर पहुंच गई। पिछले साल महामारी को रोकने के लिए लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से आर्थिक गतिविधियां बुरी तरह प्रभावित हुई थीं। डब्ल्यूजीसी की रिपोर्ट ‘2021 की दूसरी तिमाही में सोने की मांग के रुझान’ में कहा गया कि कैलेंडर वर्ष 2020 की दूसरी तिमाही में सोने की कुल मांग 63.8 टन थी।