सस्ता सोना खरीदने का मौका! आज भी उच्चतम स्तर से नौ हजार रुपये नीचे सोना, चांदी में तेजी

159

आज घरेलू बाजार में सोने की वायदा कीमत सपाट रही। एमसीएक्स पर सोना वायदा 47,309 रुपये प्रति 10 ग्राम पर रहा। चांदी की बात करें, तो चांदी वायदा 0.35 फीसदी बढ़कर 70,425 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गई। पीली धातु पिछले साल के उच्चतम स्तर (56200 रुपये प्रति 10 ग्राम) से करीब नौ हजार रुपये नीचे है। 

वैश्विक बाजारों में मजबूत अमेरिकी डॉलर से हाजिर सोने का दाम 0.1 फीसदी नीचे 1,785.41 डॉलर प्रति औंस पर रहा। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 0.2 फीसदी गिरकर 26.40 डॉलर प्रति औंस पर थी और प्लैटिनम 0.3 फीसदी नीचे 1,086.49 डॉलर प्रति औंस पर था। 

दुनिया की सबसे बड़ी गोल्ड समर्थित एक्सचेंज ट्रेडेड फंड या गोल्ड ईटीएफ, एसपीडीआर गोल्ड ट्रस्ट की होल्डिंग्स गुरुवार के 1,043.16 टन के मुकाबले शुक्रवार को 1,042.58 टन हो गई। स्वर्ण ईटीएफ सोने की कीमत पर आधारित होते हैं और उसके दाम में आने वाली घट-बढ़ पर ही इसका दाम भी घटता बढ़ता है। मालूम हो कि ईटीएफ का प्रवाह सोने में कमजोर निवेशक रुचि को दर्शाता है। एक मजबूत डॉलर अन्य मुद्राओं के धारकों के लिए सोने को अधिक महंगा बनाता है।

खुदरा आभूषण उद्योग में इस साल 30-35 फीसदी तेजी की उम्मीद है। इंडिया रेटिंग्स ने एक रिपोर्ट में कहा, आर्थिक गतिविधियों के कोरोना पूर्व पर पहुंचने और सोने की कीमतों में नरमी से सुधार को गति मिलेगी। इससे पहले 2020-21 की तीसरी तिमाही में त्योहारी सीजन, शादी-विवाह के कारण मांग बढ़ने और कीमतों में 10 फीसदी गिरावट के कारण सोने की मांग में तेजी देखने को मिली थी। रिपोर्ट के मुताबिक, मांग में वृद्धि की वजह से 2021-22 में आभूषणों की मांग 30-35 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है। हालांकि, अर्थव्यवस्था में ‘वी-आकार’ में सुधार को देखते हुए कोरोना पूर्व स्तर के मुकाबले समग्र मांग महज पांच से 10 फीसदी ही बढ़ सकती है।