सोने में 0.3 और चांदी में 0.8 फीसदी की हुई बढ़त, जानिए आज कितनी हुई वायदा कीमत

341
gold silver prices today
gold silver prices today

उच्च वैश्विक दरों के अनुरूप आज भारतीय बाजारों में सोने और चांदी की वायदा कीमत बढ़ गई है। एमसीएक्स पर सोने का वायदा भाव 0.3 फीसदी बढ़कर 46,340 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। पिछले सत्र में यह 45,861 रुपये के आठ महीने के निचले स्तर तक फिसल गया था। एमसीएक्स पर चांदी का वायदा भाव 0.8 फीसदी उछलकर 69590 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गया। 

वैश्विक बाजारों में, सोने की कीमतें पिछले सत्र में सात महीने के निचले स्तर पर पहुंचने के बाद आज बढ़ी। हाजिर सोना 0.3 फीसदी बढ़कर 1,787.31 डॉलर प्रति औंस हो गया। अन्य कीमती धातुओं में चांदी 1.3 फीसदी बढ़कर 27.56 डॉलर प्रति औंस हो गई, जबकि प्लैटिनम 1.7 फीसदी बढ़कर 1,295.94 डॉलर हो गया, जबकि पैलेडियम 1.6 फीसदी चढ़कर 2,415.38 डॉलर हो गया।

सरकार ने एक फरवरी को सोने और चांदी पर आयात शुल्क में कटौती की घोषणा की। इस कदम से घरेलू बाजार में इन मूल्यवान धातुओं की कीमतों को नीचे लाने में मदद मिलेगी तथा रत्न एवं आभूषण निर्यात को बढ़ावा मिलेगा। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने 2021-22 का बजट पेश करते हुए कहा कि, ‘वर्तमान में सोना और चांदी पर 12.5 फीसदी सीमा शुल्क लगाया जाता है। चूंकि, जुलाई 2019 में शुल्क 10 फीसदी से बढ़ा दिया गया था, इसलिए कीमती धातुओं के मूल्य में तेजी से वृद्धि हुई, इसे पिछले स्तर के करीब लाने के लिए हम सोना और चांदी पर सीमा शुल्क को युक्तिसंगत बना रहे हैं।’ 

वर्ल्ड गोल्ड काउंसिल (डब्ल्यूजीसी) की एक रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के उबरने के साथ भारत में 2021 के दौरान उपभोक्ता भावनाओं में सुधार हो रहा है और सोने की मांग सकारात्मक दिखाई दे रही है। रिपोर्ट के मुताबिक नवंबर में धनतेरस के शुरुआती आंकड़े बताते हैं कि आभूषणों की मांग औसत से कम थी, लेकिन इसमें पिछले साल की दूसरी तिमाही (अप्रैल-जून 2020) के निचले स्तर के मुकाबले काफी सुधार हुआ। रिपोर्ट में आगे कहा गया कि वैश्विक आर्थिक वृद्धि कुछ समय के लिए अपनी पूर्ण क्षमता के मुकाबले सुस्त बनी रहेगी, लेकिन पिछले कुछ समय से सोने की कीमतों में स्थिरता के चलते उपभोक्ताओं के लिए खरीद के अवसर बढ़ेंगे। डब्ल्यूजीसी की रिपोर्ट के मुताबिक चीन जैसे देशों में आर्थिक सुधार की संभावना है, जिसे 2020 की शुरुआत में भारी नुकसान का सामना करना पड़ा था।