उत्तर प्रदेश से दिल्‍ली जाने वालों रहे सावधान, ट्रैक्‍टर परेड की वजह से आज और कल लग सकता है भारी जाम

316

उत्तर प्रदेश से दिल्ली की ओर जाने वाले लोगों के लिए यह बेहद जरूरी खबर है कि अगर वह दिल्ली जाने का सोच रहे हैं तो आज सोमवार और कल मंगलवार को जरा संभलकर निकलें, क्योंकि गणतंत्र दिवस पर किसानों की ट्रैक्टर परेड के चलते गाजियाबाद और दिल्ली बार्डर पर भारी जाम लग सकता है. हजारों ट्रैक्टर लिए किसानों के जत्थे इस परेड में शामिल होने के लिए दिल्ली पहुंचना शुरू हो गए है. डायवर्जन रूट की स्थिति गाजियाबाद पुलिस की एडवायजरी सामने आने के बाद ही पता चलेगी.

बता दें कि गणतंत्र दिवस पर ये ट्रैक्टर परेड किसान केन्द्र सरकार की कृषि नीतियों के खिलाफ निकालने जा रहे हैं. ये परेड गणतंत्र दिवस परेड के बाद दोपहर 12 बजे से शुरू होगी. काफी खींचतान के बाद दिल्ली पुलिस आंदोलनकारी किसानों की इस ट्रैक्टर परेड को निकालने देने के लिए राजी हो गई है और संयुक्त बैठक के बाद परेड का रास्ता भी तय कर दिया गया है. इस परेड में हिस्सा लेने के लिए पंजाब, हरियाणा के अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हजारों किसान का हुजूम अपने ट्रैक्टर्स के साथ गाजियाबाद के रास्ते दिल्ली पहुंच रहा है. रविवार रात से ही इंदिरापुरम के अभयखंड और लिंक रोड पर किसानों ने अपना डेरा जमा रखा है.

भारतीय किसान यूनियन के अनुसार ट्रैक्‍टर परेड दोपहर 12 बजे यूपी गेट से शुरू होकर गाजीपुर सब्‍जीमंडी, आनंद विहार, अप्‍सरा बार्डर, भोपुरा, एयरफोर्स गोलचक्‍कर, मोहननगर, हिंडन पुल, मेरठ तिराहा, मेरठ रोड, दुहाई से ईस्‍टर्न पेरीफेरल जाएगी. वहां से डासना में उतरकर लालकुआं होकर वापस यूपी बार्डर पहुंच जाएगी. पुलिस की हिदायत है कि दोपहर 12 बजे के बाद इन रास्‍तों का इस्‍तेमाल करने वाले लोग संभल कर निकलें. अगर संभव हो तो परेड के दौरान इन रास्‍तों का प्रयोग करने से बचें. इसके अलावा किसान लोनी रोड, मेरठ रोड, बुलंदशहर रोड और यमुना एक्‍सप्रेस वे होकर यूपी बार्डर पहुंचेंगे, इसलिए आज सोमवार को भी यातायात प्रभावित होने की आशंका है.

रतीय किसान यूनियन के मीडिया प्रभारी धर्मेन्‍द्र मलिक के मुताबिक इस परेड में पश्चिमी उत्‍तर प्रदेश के कई जिलों से करीब 15 हजार ट्रैक्‍टर यूपी बार्डर पहुंचने की संभावना है, जो परेड में शामिल होंगे. इसमें मुजफ्फरनगर, शामली, अलीगढ़, बिजनौर, हापुड़, बुलंदशहर, गौतमबुद्ध नगर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, रामपुर, उधमसिंह नगर, पीलीभीत और सहारनपुर के किसान शामिल होंगे.

क्षेत्र को सात जोन और 13 सेक्टर में बांटकर सुरक्षा-व्यवस्था चुस्‍त की जा रही है. पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की 24 घंटे राउंड द क्लाक ड्यूटी लगाई गई है. किसानों की संख्या बढ़ते देख रविवार रात से ही पुलिस बल भी बढ़ा दिया गया. अब यहां पर पीएसी की आठ कंपनियां तैनात कर दी गई हैं. एक कंपनी अर्धसैनिक बल मुस्तैद है. अन्य जनपदों के 400 से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है.