हिमाचल प्रदेश : भारी बारिश और बाढ़ से अब तक 14 लोगों की मौत, 90 फीसदी सड़कें भी बंद, सीएम ने दिए हाई अलर्ट पर रहने का दिए आदेश

201

हिमाचल प्रदेश में मूसलाधार बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ में अब तक कम से कम 14 लोगों की मौत हो गई. पूरे प्रदेश में मूसलाधार बारिश के कारण बुरा हाल है. वहीं बारिश से प्रदेश की करीब 90 फीसदी सड़कें बंद हैं. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश के सभी जिला उपायुक्तों को अगले तीन दिनों तक हाई अलर्ट पर रहने की हिदायत दी है.राज्य के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश जारी है और शिमला मौसम विज्ञान केंद्र ने रेड अलर्ट जारी किया है.

हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव अनिल खाची ने बताया कि 24 घंटे में भारी बारिश और बाढ़ से 14 लोगों की मौत हुई है, जिनमें से लाहौल में 10 और कुल्लू में 4 लोगों की मौत हुई है. लाहौल से 3 शव अभी बरामद नहीं हुए हैं. कुल्लू में जल प्रवाह बहुत अधिक है, इसलिए हम कोई शव नहीं निकाल पा रहे हैं.

वहीं भारत तिब्बत सीमा पुलिस ने बताया कि लाहौल और स्पीति जिले के तोजिंग नाले से एक और शव बरामद हुआ है. कुल 7 शव निकाले गए. क्षेत्र में बचाव अभियान अब बंद कर दिया गया है.

मुख्य सचिव अनिल खाची ने जानकारी दी कि, कई सड़कें खोल दी गई हैं. 90% सड़कें बंद हैं जिन्‍हें फिर से खोलने का प्रयास किया जा रहा है. आईएमडी की एडवाइजरी के अनुसार, अगले 48 घंटों तक मौसम खराब रहने की संभावना है. लोग आवश्यक होने पर ही यात्रा करें.

हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में मौसम विभाग ने 30 जुलाई तक भारी बारिश की चेतावनी जारी की है. शिमला मौसम विज्ञान केंद्र ने लोगों को किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए आने वाले दिनों में पहाड़ी राज्य में नदियों और अन्य जल निकायों के पास नहीं जाने की सलाह दी है. मौसम केन्द्र ने भारी बारिश के कारण अचानक बाढ़, भूस्खलन और पेड़ों के उखड़ने की चेतावनी भी दी.

राज्य में भारी बारिश का अनुमान जताते हुए मौसम विभाग ने रेड अलर्ट जारी किया गया है, 29 जुलाई को भारी से बहुत भारी बारिश के लिए ऑरेंज अलर्ट और 30 जुलाई को मध्यम से भारी बारिश के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है.