GST परिषद की 17 सितंबर को होगी 45वीं बैठक, कोविड-19 से जुड़े सामान पर दरों की होगी समीक्षा

159

जीएसटी परिषद की 45वीं बैठक 17 सितंबर को होगी. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण की अगुवाई वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक 17 सितंबर को लखनऊ में होगी. इस बैठक में अन्य चीजों के अलावा कोविड-19 से संबंधित आवश्यक सामान पर रियायती दरों की समीक्षा हो सकती है.

वित्त मंत्रालय ने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि वित्त मंत्री 17 सितंबर को लखनऊ में जीएसटी काउंसिल की 45वीं बैठक की अध्यक्षता करेंगी. जीएसटी काउंसिल की इससे पिछली बैठक 12 जून को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई थी. इसमें कोविड-19 से संबंधित सामग्री पर कर की दरों को 30 सितंबर तक के लिए घटाया गया था.

कोविड-19 की दवाओं रेमडेसिवीर तथ टोसिलिजुमैब के अलावा मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर पर माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों में कटौती की गई थी. काउंसिल की 17 सितंबर को होने वाली बैठक में राज्यों को राजस्व नुकसान पर मुआवजे, कोविड-19 से जुड़े सामान पर दरों और कुछ वस्तुओं पर उलट शुल्क ढांचे पर विचार किया जा सकता है.

अगस्त के महीने में कुल जीएसटी कलेक्शन 1.12 लाख करोड़ रहा. सालाना आधार पर इसमें 30 फीसदी की तेजी दर्ज की गई लेकिन जुलाई के मुकाबले यह कम रहा. अगस्त के महीने में सरकारी खजाने में जीएसटी से कुल 1.12 लाख करोड़ रुपए आए. अगस्त 2020 के मुकाबले इसमें 30 फीसदी की शानदार तेजी दर्ज की गई. जुलाई के महीने में जीएसटी कलेक्शन 1.16 लाख करोड़ रुपए रहा था.

अगस्त में कुल जीएसटी कलेक्शन में 20522 करोड़ सेंट्रल जीएसटी, स्टेट जीएसटी 26605 करोड़ और इंटीग्रेटेड जीएसटी 56247 करोड़ है. आईजीएसटी में 26884 करोड़ सामानों के आयात पर वसूला गया जबकि सेस के जरिए 8646 करोड़ आए. इसमें इंपोर्टेड गुड्स पर सेस का कलेक्शन 646 करोड़ रहा.

जीएसटी कलेक्शन लगातार नौ महीने तक 1 लाख करोड़ के पार रहा, लेकिन जून के महीने में यह उससे नीचे रहा. अप्रैल और मई में कोरोना की दूसरी लहर के कारण पूरे देश में लोकल स्तर पर प्रतिबंध लगाए गए थे जिसके कारण बिजनेस एक्टिविटी में गिरावट दर्ज की गई थी. जून के अंत से प्रतिबंध आसान किए गए तो जुलाई में जीएसटी कलेक्शन फिर से 1 लाख करोड़ के पार पहुंच गया. सरकार का अनुमान है कि जीएसटी कलेक्शन आने वाले महीनों में और बेहतर रहेगा.