Agnipath Protests: उत्तर से लेकर दक्षिण भारत तक ट्रेने हुई स्वाहा, रेलवे मंत्री की अपील- सरकारी संपत्ति को न पहुंचाए नुकसान

346
agnipath scheme protest friday
agnipath scheme protest friday

अग्निपथ स्कीम में मोदी सरकार द्वारा उम्र की लिमिट बढ़ाने के बाद भी उग्र प्रदर्शन थमने का नाम नहीं ले रहा है। उत्तर प्रदेश, बिहार,तेलांगना में उपद्रवियों ने तो ट्रेनें फूंक दीं। हरियाणा,राजस्थान समेत कई राज्यों में तो रेलवे ट्रैक और सड़क जाम किया गया। आइये चलिए जानते है आज कहाँ कहाँ छात्रों ने प्रदर्शन किए :

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश के 11 जिलों में उग्र प्रदर्शन देखने को मिले। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर, मेरठ, आगरा, मथुरा, वाराणसी, उन्नाव, गोरखपुर, गोंडा, रायबरेली और बलिया जिलों में विरोध प्रदर्शन हुए। आगरा, अलीगढ़ में युवाओं ने बसों में तोड़फोड़ की। बुलंदशहर में युवाओं ने नारेबाजी की। मेरठ, देवरिया, सीतापुर के साथ ही उन्नाव के शुक्लागंज में युवाओं ने विरोध किया।यूपी के बलिया में कई गाड़ियों के शीशे तोड़े गए।।फिरोजाबाद में आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे पर 4 बसों में तोड़फोड़ करके जाम लगाया गया।

बिहार

बिहार राज्य में तो छात्रों ने तगड़ा बवाल काटा है।राज्य में 25 जिलों में जमकर प्रदर्शन हो रहें है। समस्तीपुर में 2, लखीसराय में 2, आरा और सुपौल में एक-एक यात्री ट्रेन प्रदर्शनकारियों ने स्वाहा कर दी।वैशाली के हाजीपुर रेलवे स्टेशन पर उग्र छात्रों ने तोड़फोड़ की है। समस्तीपुर में प्रदर्शनकारियों ने जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस, बिहार संपर्क क्रांति में आग लगा दी।

राजस्थान

राजस्थान के भरतपुर में अग्निपथ के विरोध में युवाओं ने उग्र आंदोलन किया। युवाओं ने शहर में एक जगह इकठ्ठा होने की कोशिश, लेकिन पुलिस ने उन्हें खदेड़ दिया। इसके बाद युवा धीरे-धीरे रेलवे पटरियों पर जमा होने लगे। रेलवे ट्रैक जाम हो गया। काफी संख्या में युवा पटरियों पर बैठ गए। केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। जैसे ही पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश की तो युवाओं ने पुलिस पर पथराव कर दिया। कई पुलिसकर्मियों के पत्थर लगे। एक पुलिसकर्मी का सिर फट गया। बाद में पुलिस ने युवाओं को खदेड़ने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े।

तेलंगाना

अग्निपथ योजना की अग्नि उत्तर भारत से होते हुए दक्षिण भारत तक पहुंच गई है। तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर प्रदर्शनकारियों ने जमकर तोड़फोड़ की। युवाओं ने ट्रेन में आग लगा दी और उसकी खिड़कियां तोड़ दीं। सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर मंडल रेल प्रबंधक एके गुप्ता ने कहा- प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन के 4-5 इंजन और 2-3 डिब्बों में आग लगा दी। यात्रियों की सुरक्षा के लिए ट्रेन सेवाएं अस्थायी रूप से रोकी गईं।