Farmers Protest: दिल्ली की ओर कूच कर रहे किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिसकिसानों ने वॉटर कैनन व आंसू गैस का किया इस्तेमाल, बंगाल में रेलवे ट्रैक ब्लॉक

523

केंद्रीय कृषि सुधार कानूनों के विरोध में पंजाब-हरियाणा के किसान ‘दिल्ली चलो’ मार्च निकाल रहे हैं। इस प्रदर्शन के मद्देनजर दिल्ली- हरियाणा बॉर्डर पर सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। यहां ड्रोने से नजर रखी जा रही है। दिल्ली की तरफ बढ़ रहे किसानों पर पुलिस ने वॉटर कैनन और आंसू गैस का इस्तेमाल किया।दिल्ली-फरीदाबाद सीमा पर तीन केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) बटालियन के अलावा कम से कम दो पुलिस स्टेशनों से बलों को तैनात किया गया है। स्थिति पर नजर रखने के लिए पुलिस ड्रोन का भी इस्तेमाल कर रही है। वहीं, केंद्रीय यूनियनों ने श्रम सुधारों को लेकर देशव्यापी भारत बंद बुलाया है। प्रदर्शनकारियों ने पश्चिम बंगाल में रेलवे ट्रैक ब्लॉक कर दिया।

एक प्रदर्शनकारी ने बताया कि हम दिल्ली को कूच कर रहे हैं, वहां रोका जाएगा तो सब सड़कों पर जाम लगा देंगे। हमारे पास 4-5 महीने का सामान है। हजार से ज्यादा ट्रालियां जा रही हैं।

दिल्ली की ओर कूच कर रहे किसानों को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने अंबाला के पास शंभू बॉर्डर पर वॉटर कैनन का इस्तेमाल किया। किसान कृषि कानूनों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने के लिए दिल्ली आ रहे हैं।

केंद्र सरकार द्वारा पारित कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब के फतेहगढ़ साहिब के किसान दिल्ली की ओर बढ़ रहे हैं।

भुवनेश्वर में ओडिशा निर्वाण श्रमिक महासंघ के सदस्य, ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियन्स और ऑल उड़ीसा पेट्रोल और डीजल पंप वर्कर्स एसोसिएशन ने धरना प्रदर्शन किया।