iOS ऐप ट्रैकिंग ट्रांस्पैरेंसी फीचर के बाद फेसबुक और इंस्टाग्राम का फ्री इस्तेमाल करने के लिए ट्रैकिंग ऑन रखे, नहीं तो देने पड़ सकते है पैसे

202

टेक कंपनी ऐपल अपने डिवाइसेज के लिए नया iOS 14.5 अपडेट लेकर आई है, जिसने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक की मुश्किलें बढ़ा दी हैं।

इस अपडेट में ऐपल ऐप ट्रैकिंग ट्रांसपैरेंसी (ATT) फीचर लेकर आई है, जिसकी वजह से फेसबुक और दूसरी ऐप्स पहले की तरह बिना यूजर्स की परमिशन लिए उन्हें ट्रैक नहीं कर पाएंगी।

फेसबुक अब यूजर्स से पूछेगी कि क्या ऐप उन्हें ट्रैक कर सकती है या फिर फेसबुक सेवाओं के बदले भुगतान करना पड़ सकता है।

ऐडवर्टाइजमेंट बिजनेस को नुकसान से बचाने की कोशिश
सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक अपनी सेवाओं के बदले यूजर्स से कोई सब्सक्रिप्शन फीस नहीं लेती और बदले में उनके डाटा का इस्तेमाल कमाई के लिए करती है।

यूजर्स की ओर से ट्रैकिंग की अनुमति ना दिए जाने से कंपनी का ऐडवर्टाइजमेंट बिजनेस प्रभावित हो सकता है। कंपनी यूजर्स को समझाने की कोशिश कर रही है कि उनका डाटा ट्रैक किया जाना क्यों जरूरी है। हालांकि, ट्रैकिंग की अनुमति ना देने की स्थिति में यूजर्स पेमेंट का विकल्प मिल सकता है। मार्क जुकरबर्ग की सोशल मीडिया कंपनी अब यूजर्स को मेन ऐप और इंस्टाग्राम में नई स्क्रीन्स दिखा रही है।

इन स्क्रीन्स पर iOS 14.5 अपडेट पाने वाले यूजर्स को बताया गया है कि ऐपल ऐप ट्रैकिंग ट्रांसपैरेंसी पॉलिसी के हिसाब से ट्रैकिंग इनेबल करने से ऐप ‘पहली की तरह फ्री में’ सेवाएं देती रहेगी।

रिसर्चर अश्कान सुल्तानी ने फेसबुक और इंस्टाग्राम ऐप्स में दिखाए जा रहे नए निर्देशों की जानकारी दी और स्क्रीनशॉट्स अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किए हैं।

सिस्टम अलर्ट से पहले दी जाएगी जानकारी
फेसबुक और इंस्टाग्राम ऐप्स में दिखाए जा रहे नोटिस में एक जैसा मेसेज लिखा है और यूजर्स को बताया गया है कि वे नए iOS वर्जन पर ऐप्स इस्तेमाल कर रहे हैं।

मेसेज ‘फेसबुक और इंस्टाग्राम को फ्री ऑफ चार्ज’ रखने का जिक्र करता है। नोटिफिकेशंस को इस तरह डिजाइन किया गया है कि ये ऐपल के सिस्टम लेवल ATT अलर्ट से पहले दिखेंगे। इनमें बताया गया है कि सोशल मीडिया कंपनी यूजर्स की जानकारी किस तरह सुरक्षित रखती है।

मेसेज में कंपनी बता रही है कि नए iOS वर्जन को कुछ डाटा ट्रैक करने के लिए परमिशन की जरूरत है, जिससे यूजर्स को सही ऐड्स दिखें।

एक पॉइंट में फेसबुक और इंस्टाग्राम को फ्री रखने का जिक्र किया गया है, जिससे कयास लग रहे हैं कि जरूरत पड़ने पर कंपनी इन सेवाओं को पेड कर सकती है।

कंपनी खुद को नुकसान से बचाने के लिए नया विकल्प उन यूजर्स को दे सकती है, जो ट्रैकिंग परमिशन नहीं देना चाहते।