मोदी सरकार पर दिग्विजय सिंह का तीखा प्रहार, बोले- ‘जब फिर चुनाव आएंगे तो महंगाई को फिर रोक दिया जाएगा’

371
Digvijay Singh

पेट्रोल-डीज़ल की बढ़ती कीमतों पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने केंद्र सरकार (Modi Govt) पर तंज कसते हुए कहा कि पूरे देश को ठगा जा रहा है, उन्होंने कहा कि चुनाव ख़त्म महंगाई शुरू हो गई और जब फिर चुनाव आएंगे तब महंगाई को फिर रोक दिया जाएगा. सिंह ने कहा कि पूरे देश की जनता को ठगा जा रहा है. बताते चलें कि पिछले छह दिनों में पांचवी बार दाम बढ़ाए गए हैं. ताजा बढ़ोतरी की बात की जाए तो पेट्रोल की कीमतों में 50 पैसे प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में 55 पैसे की बढ़ोतरी की गई है.

पेट्रोल और डीजल के कीमतों में देश भर में इजाफा किया गया है लेकिन इनके दाम स्थानीय टैक्स के आधार पर अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग हैं. कुल मिला कर छह दिनों में पेट्रोल की कीमत 3.70 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 3.75 रुपये प्रति लीटर बढ़ी है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 98.61 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर अब 99.11 रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत 89.87 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 90.42 रुपये प्रति लीटर हो गई है.

महंगाई पर सरकार को घेरने की तैयारी
कांग्रेस के महासचिवों और प्रदेश प्रभारियों की शनिवार को हुई बैठक में फैसला किया गया कि पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस और कई खाने-पीने के सामानों की कीमतों में बढ़ोतरी को लेकर सरकार को घेरने के लिए पार्टी अगले हफ्ते से तीन चरणों में ‘महंगाई मुक्त भारत’ अभियान चलाएगी.कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने सरकार पर हमला बोलते हुए कह कि अच्छे दिन की लूट ने भारतीय नागरिकों का बजट बिगाड़ दिया है. पेट्रोल, डीजल, एलपीजी, सीएनजी और पीएनजी के दाम रोजाना बढ़ा रहे हैं.

उन्होंने बताया कि बैठक में यह फैसला किया गया कि कांग्रेस ‘महंगाई मुक्त भारत’ अभियान तीन चरणों में चलाएगी. पहले चरण में 31 मार्च को पार्टी के कार्यकर्ता और समर्थक घर के बाहर या सार्वजनिक जगहों पर गैस सिलेंडर पर माला चढ़ाकर घंटी या ढोल बजाएंगे ताकि बहरी सरकार के कान खोले जा सकें और उसे नींद से जगाया जा सके. दो से चार अप्रैल के बीच दूसरे चरण में कांग्रेस जिला स्तर पर ‘महंगाई मुक्त भारत धरना और मार्च’ का आयोजन करेगी, जिसमें सामाजिक संगठनों और आम लोगों को साथ लिया जाएगा.सुरजेवाला के अनुसार, इस अभियान के तीसरे चरण में सात अप्रैल को कांग्रेस और उसके अलग संगठनों के नेता और कार्यकर्ता राज्य मुख्यालयों पर धरना देंगे और मार्च निकालेंगे.