Punjab Elections 2022: भगवंत मान बनाए गए आम आदमी पार्टी के पंजाब में मुख्यमंत्री उम्मीदवार, CM केजरीवाल ने किया एलान

318
punjab cm bhagwant mann

पंजाब विधानसभा चुनाव में सांसद भगवंत मान आम आदमी पार्टी का सीएम चेहरा होंगे। आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने मोहाली में इसका एलान किया। इस दौरान भगवंत मान की माता हरपाल कौर भी मौजूद रहीं। वहीं केजरीवाल के एलान से पहले ही पूरे शहर में भगवंत मान के पोस्टर लग गए है।

आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा पंजाब में पार्टी का मुख्यमंत्री चेहरा चुनने के लिए एक नंबर जारी किया गया था। इससे पहले पार्टी में विधायकों की तरफ से सांसद भगवंत मान को बतौर सीएम एलान किए जाने की मांग की जा रही थी लेकिन अरविंद केजरीवाल ने लोहड़ी के दिन नया दांव खेलते हुए पंजाब के लोगों से ही इसके लिए राय मांग ली थी।

सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में आप के पंजाब सहप्रभारी राघव चड्ढा ने कांग्रेस पर जुबानी हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस ने सीएम चरणजीत सिंह चन्नी का सिर्फ दलित वोट पाने के लिए इस्तेमाल किया है। कांग्रेस इससे पहले महाराष्ट्र में भी ऐसा ही कर चुकी है। लेकिन चुनाव के लिए टिकट देते समय उनके किसी रिश्तेदार या सगे भाई को टिकट नहीं दिया, जबकि कई नेताओं के बच्चों और भाईयों को टिकट दिया है। वहीं, उन्होंने साफ किया है कि उनके संपर्क में न तो सीएम चरणजीत सिंह चन्नी के भाई मनोहर सिंह और न ही उनके अन्य रिश्तेदार हैं।

इस मौके पर राघव चड्ढा ने सबसे पहले कहा कि पंजाब के विधानसभा चुनाव-2022 में उतरने जा रही आम आदमी पार्टी ऐसी पहली पार्टी है जो कि अपने सीएम चेहरे का सबसे पहले एलान कर रही है। अभी तक किसी पार्टी ने अपने सीएम चेहरे का एलान नहीं किया है। उन्होंने कहा कि सीएम का चेहरा भी लोगों की राय से चुना जा रहा है। इस संबंधी अब तक 15 लाख से अधिक संदेश उन्हें आ चुके हैं।

सीएम चन्नी के भाई डॉ. मनोहर सिंह को बस्सी पठाना से टिकट न देने के बहाने उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि इससे साफ हो गया है कि पार्टी में चरणजीत सिंह चन्नी की कितनी कीमत है। उन्होंने कुछ नेताओं के नाम गिनाएं, जिनके भाईयों और बेटों को कांग्रेस ने चुनाव के लिए टिकट दिए हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह का खेल कांग्रेस ने पहली बार नहीं किया। कई साल पहले महाराष्ट्र में भी कांग्रेस इस तरह का खेल कर चुकी है। चुनाव से ठीक तीन-चार महीने पहले दलित वोट के लिए उन्होंने सुशील कुमार शिंदे को सीएम घोषित कर दिया था और अगले ही चुनाव में उन्हें बदल दिया था। उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि नाइट वाच मैन की तरह चरणजीत सिंह चन्नी का प्रयोग किया गया है।

चड्ढा ने कहा कि ऐसा लगता है कि कांग्रेस के पंजाब प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू भी उनकी इज्जत नहीं करते हैं। जब सिद्धू प्रेस कांफ्रेंस करते हैं तो वह अपने पीछे लगे बैनर में मुख्यमंत्री की फोटो तक नहीं लगाते। वह रोजाना चन्नी सरकार पर कई मुद्दों पर बात करके आरोप लगाते हैं। इस मौके पर चढ्ढा ने कहा कि उनकी पार्टी की ओर से अभी चार सीटों पर उम्मीदवारों का एलान नहीं किया है, जो कि आने वाले दिनों में कर दिया जाएगा।