डेविड वॉर्नर का बड़ा बयान, बोले- आईपीएल के दौरान भारत में रहना भयानक था

395

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में खेलने वाले आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर लंबे इंतजार के बाद आखिरकार सोमवार को जब अपने परिजनों से मिले तो उनके आंखों में खुशी के आंसू और चेहरे पर सुकून साफ झलक रहे थे। भारत में कोरोना के मामलों और आईपीएल के बीच में स्थगित किए जाने के बाद आस्ट्रेलियाई क्रिकेटर और इस टूर्नामेंट से जुड़े अन्य सहकर्मी यात्रा प्रतिबंधों के कारण सीधे स्वदेश नहीं लौट पाए थे। उन्हें पहले कुछ दिन मालदीव में बिताने पड़े। आस्ट्रेलिया का 38 सदस्यीय दल दो सप्ताह पहले स्वदेश लौटा था। ऑस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने बुधवार को कहा कि आईपीएल के दौरान भारत में कोरोना संकट के बीच बड़े पैमाने पर अंत्येष्टि की तस्वीरें देखना भयावह और परेशान करने वाला था।

सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेलने वाले वार्नर ने नोवा के फिट्जी और विप्पा कार्यक्रम में कहा, ‘भारत में आक्सीजन संकट के दृश्य टीवी पर देखकर सभी को बुरा लगा होगा।’ उन्होंने कहा, ‘लोग अपने परिजनों की अंत्येष्टि के लिए सड़कों पर कतार लगाकर खड़े थे। हमने मैदान पर जाते और वहां से लौटते समय ये दृश्य देखे। यह भयावह और परेशान करने वाला था।’

वार्नर ने कहा कि बायो बबल में कोरोना के मामले आने के बाद आईपीएल स्थगित करना सही था। उन्होंने कहा, ‘मानवता के नजरिए से मुझे लगता है कि सही फैसला लिया गया था। बबल में संक्रमण आने के बाद यह चुनौतीपूर्ण था। उन्होंने अपनी ओर से सर्वश्रेष्ठ प्रयास किया। हम जानते हैं कि भारत में सभी को क्रिकेट प्रिय है।’

वार्नर और ऑस्ट्रेलिया के बाकी खिलाड़ी आईपीएल बीच में स्थगित होने के बाद मालदीव चले गए थे क्योंकि भारत से यात्रा पर ऑस्ट्रेलिया में प्रतिबंध था। आखिरकार दिन का पृथकवास खत्म करके ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर अपने परिवारों के पास पहुंच गए।