Cyclone Jawad: 12 घंटे बाद ‘जवाद’ का दिखेगा खौफनाक रूप, आंध्र और ओडिशा के तटों से टकराएगा चक्रवाती तूफान, बंगाल में भारी बारिश की संभावना

    349
    Cyclone Jawad

    बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र तेज होकर अगले 12 घंटे में चक्रवाती तूफान जवाद में बदल जाएगा और शनिवार की सुबह उत्तरी आंध्र प्रदेश और दक्षिणी ओडिशा के तटों से टकराएगा। मौसम विभाग ने इसको लेकर आंध्र प्रदेश, ओडिशा, बंगाल में हाई अलर्ट जारी किया गया है। आपदा टीमें तैनात कर दी गई हैं और इन राज्यों में जाने वाली करीब 100 ट्रेनों का परिचालन भी रद्द कर दिया गया है। मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि विशाखापत्तनम से करीब 770 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना दबाव उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है।

    पीएम मोदी ने हालात का जायजा लिया
     बंगाल की खाड़ी में उठे जवाद तूफान का खतरा कितना बड़ा है इसका अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसकी तैयारी को लेकर समीक्षा बैठक की। गुरुवार (2 दिसंबर) पीएम मोदी ने जवाद तूफान से निपटने के लिए समीक्षा बैठक बुलाई और तैयारियों का जायजा लिया। इस बैठक में कैबिनेट सचिव राजीव गौबा और एनएसए अजिल डोभाल समेत कई वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

    आंध्र और ओडिशा के कई जिलों में रेड अलर्ट
    मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक, तूफान जवाद के तट से टकराने के बाद शनिवार की सुबह हवा की गति 100 किमी प्रति घंटे तक हो सकती है। इससे आंध्र प्रदेश, ओडिश और पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की आशंका जताई गई है।  जवाद के खतरे को देखते हुए ओडिशा के चार जिले- गजपति, गंजम, पुरी और जगतसिंहपुर में रेड अलर्ट जारी कर दिया गया है जबकि और बाकी के सात जिलों- केंद्रपाड़ा, कटक, खुर्दा, नयागढ़, कंधमाल, रायगड़ा, कोरापुट जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।