देश में टीकाकरण की बढ़ती रफ़्तार, एक दिन में 25 लाख से ज्यादा लोगों को लगा टीका, अब तक 4.46 करोड़ से अधिक लोगों का हुआ टीकाकरण

    307

    देश में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बीच टीकाकरण को रफ्तार देना बड़ी चुनौती बन गई है। हालांकि पिछले कुछ दिन में कोरोना टीकाकरण में थोड़ी बढ़ोतरी जरूर हुई है। इसी का नतीजा है कि पिछले एक दिन में 25 लाख से भी ज्यादा लोगों को टीका लगाया गया। 16 जनवरी से देश में शुरू हुए टीकाकरण कार्यक्रम के तहत अब तक दूसरी बार एक दिन में 25 लाख से ज्यादा लोगों को टीका दिया गया।

    रविवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि शनिवार को देश में 25,40,449 लोगों को वैक्सीन दी गई। इनमें 45 या उससे अधिक आयु के 16.73 लाख लोगों को पहली बार वैक्सीन दी गई। जबकि 2.57 लोगों को दूसरी डोज देकर कोरोना का सुरक्षा कवच प्रदान किया गया।

    इसी के साथ अब तक देश में 4.46 करोड़ से भी अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। 77.79 लाख स्वास्थ्य कर्मचारी और 80.84 लाख फ्रंटलाइन वर्कर भी वैक्सीन ले चुके हैं। हालांकि इस समूह के करीब डेढ़ करोड़ लोग वैक्सीन लेने से बचे हैं।

    38669 जगहों पर दिया गया वैक्सीन
    स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि शनिवार को टीकाकरण के 62वें दिन देश में 38,669 जगहों पर वैक्सीन दिया गया, जिससे टीकाकरण में तेजी आई है। गौर करने वाली बात है कि एक मार्च से कोरोना टीकाकरण का दूसरा चरण शुरू हुआ है और पिछले 20 दिन में ही 60 या उससे अधिक आयु के 1.76 करोड़ बुजुर्ग कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं।

    जिनकी आयु 45 से 59 वर्ष है और उन्हें पहले से बीमारी है, ऐसे 36.33 लाख लोग भी वैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं। आगामी 29 मार्च से देश में कोरोना टीकाकरण के दूसरे चरण के तहत बुजुर्गों को दूसरी डोज दी जाएगी।

    केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। इसे कोरोना का दूसरा चरण नहीं कहा जा सकता, लेकिन कोरोना की इस चेन को तोड़ना होगा। यह तभी संभव होगा, जब हर व्यक्ति मास्क लगाएगा। एक माह तक लगातार लोग मास्क लगाएंगे और दो गज की दूरी बनाए रखेंगे तो कोरोना हारेगा। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि देश में लॉकडाउन नहीं लगेगा। 

    निगेटिव रिपोर्ट के बावजूद एयरपोर्ट पर संक्रमित मिले यात्री
    विदेश से आए कई यात्री हैदराबाद हवाईअड्डे पर जांच के दौरान कोरोना संक्रमित पाए गए। इन यात्रियों के पास कोरोना निगेटिव रिपोर्ट थी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की अधिकारी अनुराधा मेदोजू ने रविवार को बताया, संक्रमित मिले लोगों की जानकारी राज्य सरकार के अधिकारियों के साथ साझा की गई। एयरपोर्ट पर ब्रिटेन से आने वालों का अनिवार्य रूप से परीक्षण किया जा रहा है।

    टीके की दूसरी खुराक के 28 दिन बाद तक नहीं कर सकते रक्तदान
    नई दिल्ली। अगर आपने कोरोना का टीका लगवाया है तो आप 56 दिन तक रक्तदान नहीं कर सकेंगे। यह आदेश नेशनल ब्लड ट्रंासफ्यूजन काउंसिल (एनबीटीसी) के निदेशक डॉ. सुनील गुप्ता की ओर से पांच मार्च को जारी किया गया है।

    आदेश के अनुसार कोरोना के टीके की पहली खुराक लेने के 56 और दूसरी खुराक लेने के 28 दिन बाद तक रक्तदान नहीं किया जा सकता। एनबीटीसी की 17 फरवरी को हुई 30वीं बैठक में वैक्सीनेशन के बाद रक्तदान को लेकर हुई चर्चा में इस पर निणर्य लिया गया। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार किसी व्यक्ति के टीकाकरण के लिए टीके की दोनों खुराकों के बीच 28 दिन का अंतराल जरूरी है। सामान्य तौर पर टीके के दूसरी खुराक लेने के दो हफ्ते बाद प्रतिरोधक क्षमता शरीर में विकसित होती है।

    वैक्सीन की प्रभावशीलता कम नहीं करता अल्कोहल…
    क्या कोरोना की वैक्सीन लेने के बाद एल्कोहल से बचना चाहिए? अक्सर पूछे जाने वाले इस सवाल पर स्वास्थय मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि विशेषज्ञों के अनुसार ऐसे कोई सुबूत नहीं है कि अल्कोहल वैक्सीन की प्रभावशीलता पर असर डालता हो।