कोरोना के कप्पा वैरिएंट को लेकर सरकार ने चेताया, कहा- ध्यान देने की जरूरत, बरतें सावधानी

    299

    केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस के कप्पा वैरिएंट को लेकर सचेत किया है। केंद्र का कहना है कि इसे अनदेखा नहीं किया जा सकता है और इस पर ध्यान देने की जरूरत है। नीति आयोग के सदस्य (स्वास्थ्य) वीके पॉल ने शुक्रवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस ब्रीफिंग के दौरान कहा कि यह कोई नया वैरिएंट नहीं है डेल्टा वैरिएंट के समय ही इसकी भी पहचान की गई थी, लेकिन इसकी प्रबलता काफी कम है।

    उन्होंने कहा कि दूसरी लहर के दौरान डेल्टा वैरिएंट के साथ कप्पा वैरिएंट का भी पता चला था। डेल्टा वैरिएंट की तुलना में इसकी काफी प्रबलता कम है। उन्होंने बताया कि फरवरी मार्च महीने के समय पर इस वैरिएंट की पहचान की गई थी। वीके पॉल ने आगे कहा कि अगर इसके मामले सामने आ रहे हैं तो इसका मतलब यह देश में मौजूद है। हम लगातार इस पर नजर बनाए हुए हैं। बता दें कि उत्तर प्रदेश में अभी तक कप्पा वैरिएंट के दो मामले सामने आ चुके हैं। डॉ पॉल ने निष्कर्ष निकालते हुए कहा, हमें कप्पा वैरिएंट के वैज्ञानिक प्रभाव और वैक्सीन प्रतिरक्षा पर नजर रखने की जरूरत है।

    कप्पा वैरिएंट के ये हैं लक्षण

    कप्पा वैरिएंट के संक्रमण पर मरीज को खांसी, बुखार, दस्त, स्वाद चले जाना, गले में खराश, सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण महसूस हो सकते हैं। अगर ऐसे लक्षण महसूस हों तो तुरंत डाक्टर से संपर्क करें। कप्पा वैरिएंट को लेकर कई शोध किए जा रहे हैं। इन शोधों के जरिए कप्पा वैरिएंट की अन्य जानकारी भी सामने आ सकती है। फिलहाल गृह मंत्रालय द्वारा कोरोना को लेकर जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन करें।

    कप्पा वैरिएंट से कैसे करें बचाव

    कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए मास्क पहनना व दो गज की दूरी जरूरी हैं। घर से बाहर निकलने का परहेज करें और अगर जाना जरूरी हो तो सर्जिकल मास्क जरूर पहनें। इसके साथ ही शारीरिक दूरी का पालन करें। कोरोना महामारी में साफ-सफाई का खास ख्याल रखने की जरूरत है। इसके अलावा, इम्यून सिस्टम मजबूत करने पर भी विशेष ध्यान दें। जल्द से जल्द कोरोना की वैक्सीन लगवा लें। कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर खुद को आइसोलेट कर जांच करा लें।