हाथरस की घटना पर राहुल गाँधी ने योगी सरकार को घेरा, कहा- कुछ लोग दलित, मुस्लिम और आदिवासी को इंसान नहीं समझते

901

हाथरस की घटना पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने एक बार फिर यूपी सरकार पर हमला किया है. राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा है कि शर्मनाक सच्चाई ये है कि कई भारतीय दलित, मुसलमान और आदिवासियों को इंसान समझते ही नहीं है.

राहुल ने कहा कि मुख्यमंत्री और उनकी पुलिस कहती है कि किसी का रेप नहीं हुआ था, क्योंकि उनके लिए और कई दूसरे भारतीयों के लिए वो पीड़िता कोई नहीं (No One) थी.

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने बीबीसी की एक रिपोर्ट पर टिप्पणी करते हुए ये प्रतिक्रिया दी है. बीबीसी की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि पुलिस और राज्य सरकार के अधिकारी बार-बार रेप की घटना से इनकार कर रहे हैं.

इसी रिपोर्ट पर टिप्पणी करते हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने यूपी सरकार की खिंचाई की है. राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “शर्मनाक सच्चाई ये है कि कई भारतीय दलितों, मुसलमानों और आदिवासियों को इंसान समझते ही नहीं हैं.”

उत्तर प्रदेश सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि मुख्यमंत्री और उनकी पुलिस कहती है कि किसी का रेप नहीं हुआ था, क्योंकि उनके लिए और कई दूसरे भारतीयों के लिए पीड़िता कोई थी ही नहीं.

बता दें कि राहुल गांधी और प्रियंका गांधी हाथरस की घटना को लेकर यूपी सरकार पर शुरू से ही हमलावर रहे हैं. राहुल गांधी हाथरस में पीड़ित परिवार के घर भी गए थे और उनसे मुलाकात की थी. राहुल ने कहा था कि यूपी सरकार चाह कर भी पीड़ित परिवार के साथ मनमानी नहीं कर पाएगी, क्योंकि अब इस देश की बेटी को इंसाफ दिलाने के लिए पूरा देश खड़ा है.

राहुल गांधी ने कहा था कि इस मुश्किल वक्त में हम उनके साथ खड़े हैं और उन्हें न्याय दिलाने में पूरी मदद करेंगे. वहीं प्रियंका गांधी ने कहा कि पीड़िता के शव को आधी रात को क्यों जलाया गया? पीड़ित परिवार को धमकी क्यों दी जा रही है और उन्हें बयान बदलने पर मजबूर क्यों किया जा रहा है.

प्रियंका ने इस मामले में पीड़ित परिवार की ओर से हाथरस डीएम को हटाने और इस घटना की न्यायिक जांच की मांग की थी.