अशोक गहलोत और सचिन पायलट में फिर तकरार,पायलट के मीडिया मैनेजर पर केस

612
FILE PHOTO

राजस्थान की राजनीति में एक बार फिर बवाल मच सकता है. अशोक गहलोत सरकार ने फिर से सचिन पायलट के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. इस बार सचिन पायलट समर्थक विधायकों को छोड़कर सचिन पायलट के मीडिया मैनेजर के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.

पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के झगड़े के दौरान जो खबरें दोनों तरफ से दी जा रही थीं उस मामले में सचिन पायलट के कैंप की तरफ से जैसलमेर के होटल में विधायकों के फोन टैपिंग के जो आरोप लगाए गए थे उसे लेकर सचिन पायलट के मीडिया मैनेजर लोकेंद्र सिंह पर जयपुर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है. 7 अगस्त की घटना को लेकर अब जाकर 6 अक्टूबर को मुकदमा दर्ज होने से हर कोई हैरान है. चर्चाएं ये होने लगी हैं कि क्या अशोक गहलोत सचिन पायलट के खिलाफ फिर से मोर्चा खोलने वाले हैं.

हद तो तब हो गई जब साइबर थाने के एसएचओ सुरेंद्र पंचोली ने बिना सचिन पायलट की इजाजत के उनके निवास में घुसकर उनके मीडिया मैनेजर का बयान लिया और उसके बाद मुकदमा दर्ज कर लिया. सचिन पायलट के घर में घुसकर उनके स्टाफ का बयान लेने की कार्रवाई कोई आम बात नहीं है. इसलिए माना जा रहा है कि इस मामले में ऊपर से कार्रवाई का दबाव है.

गौरतलब है कि जिस तरह से सचिन पायलट को नोटिस देने के लिए स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप ने मुकदमा दर्ज किया था उसी तरह से इस बार भी अजीब ढंग से मुकदमा दर्ज किया गया है. जिसमें लिखा है कि 6 अगस्त को कंट्रोल रूम का ड्यूटी ऑफिसर कंट्रोल रूम में ड्यूटी कर रहा था और ऐसे में राजस्थान सरकार के ऊपर पुलिस के टेलीफोन टेपिंग करने के आरोप सुनकर वह इतना व्यतीत हुआ कि साइबर थाने में जाकर मुकदमा दर्ज करा दिया. साइबर थाने ने सचिन पायलट के स्टाफ को इस पूरे मामले में दोषी मानते हुए विधायकपुरी थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया.

इसी तरह से सचिन पायलट को देशद्रोह के मुकदमे के तहत नोटिस दिया गया था तब उन्होंने बगावत की थी और एक बार फिर से सारा मामला खत्म होने के बाद अशोक गहलोत की सरकार ने गड़े मुर्दे उखाड़ दिये हैं.

जुलाई और अगस्त में कांग्रेस के दो खेमे में झगड़ा चल रहा था जिसमें अशोक गहलोत के मीडिया मैनेजर टेलीफोन टैपिंग के वीडियो भेज रहे थे तो सचिन पायलट ग्रुप की तरफ से भी इसी तरह की चीजें भेजी जा रही थीं. मगर अशोक गहलोत ने अपने मीडिया मैनेजर का यह कहते हुए बचाव किया कि उसे सोशल मीडिया में कहीं मिला था इसलिए मीडिया को दे दिया पर सचिन पायलट के मीडिया मैनेजर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है.

मामले की जांच विधायकपुरी थाने के सीआई ओम मतवा को दी गई है. उनका कहना है कि हमारे पास तो कार्रवाई के लिए भेजा गया है और कहा गया है कि जल्दी से जल्दी कार्रवाई करें बाकी इसके बारे में ऊपर के अधिकारी बताएंगे. इस मामले में खबर प्रसारित करने वाले पत्रकारों पर भी मुकदमे दर्ज किए जा रहे हैं.