कोरोना से बगड़ते हालात: ब्रिटेन ने भारत से अतिरिक्त उड़ानों की मंजूरी देने से इनकार किया

404
ATF Price Hike

ब्रिटेन के सबसे बड़े और व्यस्त हीथ्रो एयरपोर्ट ने बृहस्पतिवार को कम से कम चार अंतरराष्ट्रीय विमानन कंपनियों को भारत से आठ अतिरिक्त फ्लाइट लाकर उतारने की इजाजत नहीं दी।

लंदन स्थित एयरपोर्ट प्रबंधन ने यह कदम ब्रिटेन में भारत से आवागमन पर शुक्रवार से लागू होने वाले ‘रेड लिस्ट’ यात्रा प्रतिबंध से एक दिन पहले उठाया। फिलहाल ब्रिटेन और भारत के बीच एक सप्ताह में 30 फ्लाइटों के संचालन की इजाजत है।

एयरपोर्ट प्रबंधन ने कहा कि अतिरिक्त उड़ानों के लिए आग्रह नामंजूर करने का निर्णय यह सुनिश्चित करने के लिए किया गया कि सीमा पर मौजूदा यात्री दबाव ज्यादा नहीं हो जाए, ताकि आगमन डेस्क पर पासपोर्ट कंट्रोल सेक्शन में लंबी कतारें और भीड़ न जमा हो सके।

भारत को ‘रेड लिस्ट’ में शामिल करने की घोषणा इस सप्ताह की शुरुआत में ब्रिटिश संसद के निचले सदन हाउस ऑफ कामंस में की गई थी। यह निर्णय ब्रिटेन में 103 लोगों के अंदर कोरोना वायरस के ऐसे प्रारूप का संक्रमण पाए जाने पर लिया गया था, जिसका पहला मरीज भारत में मिला था।

स्वास्थ्य मंत्री मैट हैन्कॉक ने सांसदों से कहा था कि भारत को रेड लिस्ट में शामिल करने का कदम डाटा का अध्ययन करने के बाद सावधानी के चलते उठाया जा रहा है।

हैन्कॉक ने कहा था कि इसके बाद कोई भी ऐसा व्यक्ति, जो ब्रिटिश या आयरिश नागरिक नहीं होगा और पिछले 10 दिन के दौरान भारत में रहा होगा, उसे ब्रिटेन में प्रवेश नहीं किया जाएगा। ब्रिटिश या आयरिश नागरिकों को भी भारत से आने पर 10 दिन के लिए होटल में क्वारंटीन किया जाएगा।

ब्रिटिश संसद की इस घोषणा के बाद फैली अफरातफरी के चलते हजारों भारतीय छात्रों और ब्रिटिश मूल के भारतीयों में शुक्रवार से पहले लंदन लौटने के लिए टिकट खरीदने की भगदड़ मच गई थी।

इसी कारण कई विमानन कंपनियों ने अतिरिक्त उड़ान उतरने देने की इजाजत हीथ्रो एयरपोर्ट से मांगी थी। ब्रिटिश नागरिक उड्डयन प्राधिकरण ने कहा कि उसे भारत से ब्रिटेन आने के लिए बहुत सारी चार्टर्ड फ्लाइटों के आवेदन मिले थे, लेकिन ज्यादातर मानक पर खरे नहीं उतरने के कारण खारिज हो गए।