कोविड-19 वैक्सीन विकसित करने वाला पहला देश ब्रिटेन जल्‍द शुरू करेगा कोरोना वैक्‍सीनेशन प्रोग्राम, सरकार ने दी इजाजत

867

ब्रिटेन ऐसा पहला देश बन गया है जिसने कोविड-19 के लिए विकसित होने वाली वैक्‍सीन के प्रयोगात्‍मक उपयोग की इजाजत दी है। इस वैक्‍सीन को अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर और जर्मनी की कंपनी बायोएनटेक ने विकसित किया है। इन दोनों ही कंपनियों का विश्‍व के दूसरे देशों से भी वैक्‍सीन विकसित करने को लेकर करार हुआ है। ब्रिटेन से आई इस खबर को पूरी दुनिया के लिए भी बड़ी राहत भरी नजरों से देखा जा रहा है।

आपको बता दें कि कोरोना वायरस के संक्रमण के मामलों में ब्रिटेन पूरी दुनिया में सातवें नंबर पर है। मौजूदा समय में यहां पर कोरोना के 1,659,256 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 59,699 मरीजों की इससे मौत भी हो चुकी है। वहीं 344 मरीज ठीक भी हुए हैं। आंकड़े इस बात की भी तसदीक देते हैं कि ब्रिटेन में इस वायरस से मरने वालों का आंकड़ा जहां ऊपर है, वहीं इससे ठीक होने वालों की गिनती बेहद कम है। ऐसे में फाइजर और बायोएनटेक की वैक्‍सीन को इजाजत मिलना ब्रिटेन के लिए तो राहत भरी बात है ही।

फाइजर और बायोएनटेक की जिस वैक्‍सीन को एक्‍सपेरिमेंटल यूज के तहत इजाजत मिली है उसे ट्रायल के दौरान 95 फीसद तक कारगर पाया गया है। अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर दवाओं के कारगर होने की बात करें तो यदि कोई वैक्‍सीन 50-60 फीसद तक भी कारगर साबित होती है तो उसको उपयोग की इजाजत दे दी जाती है। ऐसे में इस कंपनी की वैक्‍सीन इससे कहीं आगे है। हालांकि ब्रिटेन की सरकार के सामने अब सबसे बड़ी चुनौती इसको उपलब्‍ध करवाना और इसको देशवासियों को उपलब्‍ध करवाने के लिए रोडमैप तैयार करने की है। ब्रिटेन में बीते कई दशकों में ये पहला सबसे बड़ा इम्‍यूनाइजेशन प्रोग्राम होने वाला है। लिहाजा इसके लिए रोडमैप जरूरी होगा।

सरकार ने इसके लिए जो शुरुआती खाक खींचा है उसके मुताबिक इस वैक्‍सीन की 4 करोड़ खुराक के ऑर्डर दे दिए गए हैं। ये खुराक 2 करोड़ लोगों को दी जा सकेगी। इसकी वजह ये है कि इसकी हर व्‍यक्ति को दो खुराक देनी होंगी। करीब 21 दिनों के अंतराल में ये खुराक दी जाएंगी। सरकार ने इसके लिए जो रोडमैप तैयार किया है उसके मुताबिक इस वैक्‍सीन को 16 वर्ष की आयु से अधिक के व्‍यक्ति को दिया जाएगा। इसका सीधा सा अर्थ एक ये भी है कि हर किसी को इस वैक्‍सीन को उपलब्‍ध करवाने के लिए 5 करोड़ खुराक से कुछ अधिक की और जरूरत होगी।