ओडिशा विधानसभा में BJP विधायक मोहन माझी ने अध्यक्ष का माइक तोड़ा, फाइबर शील्ड को भी उखाड़ा

361

विपक्षी भारतीय जनता पार्टी के विधायकों ने शनिवार को लगातार चौथे दिन ओडिशा विधानसभा की कार्यवाही बाधित की। भाजपा सदस्यों ने शनिवार को भी कृषि मंत्री के इस्तीफे की मांग की और उन पर पांच साल की बच्ची की हत्या के आरोपी को बचाने का आरोप लगाया। भाजपा ने मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो से कराने की भी मांग की। राज्य सरकार की अपराध शाखा एवं उच्च न्यायालय की निगरानी में मामले की जांच के लिए गठित विशेष जांच दल को खारिज करते हुए भाजपा सदस्य एक समय अध्यक्ष के आसन के समीप आ गए।

पार्टी विधायक मोहन माझी ने विधानसभा अध्यक्ष का माइक तोड़ दिया और मेज पर लगी फाइबर शील्ड को उखाड़ दिया। कोरोना वायरस से बचाव के लिए प्रत्येक सदस्य की सीट के आगे फाइबर शील्ड लगाया गया है। यह विधानसभा अध्यक्ष एस एन पात्रो के आगे भी लगाया गया है। भाजपा सदस्यों ने कृषि मंत्री अरूण कुमार साहू के इस्तीफे की मांग की। उनके खिलाफ बाबुली नायक को बचाने का आरोप है जो पांच साल की एक बच्ची के अपहरण और हत्या का मुख्य आरोपी है। विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने हालांकि भोजनावकाश के बाद के सत्र में कार्यवाही में हिस्सा लिया।

इससे पहले राज्य सरकार ने अदालत की निगरानी में एसआईटी की जांच से संबंधित अधिसूचना जारी किया लेकिन भाजपा के सदस्य मामले की सीबीआई से जांच कराने पर अड़े रहे।